बच्चे ने कहा ‘आई एम सॉरी आप रोना मत’, लिखकर झूल गया फंदे पर, जाते हुए नोट भी छोड़ा

41006

बच्चो का मन अपने आप में बड़ा ही नाजुक सा होता है. अगर उनको सही बाते न बताई जाये और उनको गाइड न किया जाए तो फिर कही न कही वो एक गलत कदम उठा सकते है जो अपने आप में बुरा भी होता है और इसका कोई भी तोड़ अंत में नही है. अभी हाल ही में एक ऐसा केस देखने में आया है जो बाकी माता पिता लोगो के लिए भी एक सबक की तरह है और इसे पढकर के शायद आप भी थोड़ी तकलीफ का अनुभव कर सकते है.

माँ को आया था बैंक खाते से पैसे उड़ने का मेसेज, फोन करके पूछा तो बेटे ने कबूली गलती
प्रीती पाण्डेय बाहर थी और तभी उनके फोन पर एक मेसेज आया जिसमे उनके खाते से कुल 1500 रूपये निकलने की जानकारी थी. इस पर उन्होंने घर पर फोन किया और पूछा कि ये कैसे हुआ? इस पर जवाब में उसने कहा कि उसने फ्री फायर गेम खेलने में ये पैसे उड़ा दिया. माँ ने उसे फोन पर खूब ज्यादा डांटा और इसके बाद में फोन रख दिया. इसके बाद में बच्चा अपनी बहन के साथ में घर पर अकेला था.

बच्चे आ गया प्रेशर में, अपनी जान ही दे दी
बच्चा यानी कृष्णा पाण्डेय ये सब देखकर के प्रेशर में आ गया और सोचने लगा कि उससे इतनी बड़ी गलती कैसे हो गयी? इस पर वो मासूम अपने कमरे में चला गया और अपना कमरा बंद कर लिया. बहन ने दरवाजा खोलने को कहा लेकिन उसने नही खोला.  फिर माता पिता आये तो उन्होंने दरवाजा तोडा और तोड़कर के अन्दर गये. उन्होने देखा बच्चा जीवित नही था, उसने प्रेशर में आकर के अपनी जान ही समाप्त कर दी थी.

पास से मिला नोट, माँ को रोने से मना
किया बच्चे के पास से एक नोट मिला है जिसमे उसने अपनी माँ को कुछ भी रोने से मना किया है. उसने इस नोट में 40 हजार रूपये खोने की बात भी कबूली है और कह रहा है कि माँ के डांटने की वजह से वो डिप्रेशन में आ गया था. उसने अपनी टूटी फूटी सी भाषा में उसने अपनी सारी बाते लिखी है.

कही न कही ये पूरी बात इतना हमें बता देती है कि जिस तरह की ये घटनाएं हो रही है उसके बाद में बच्चो के प्रति माता पिता को और अधिक सजग होने की जरूरत है.