माँ ने मोबाइल इस्तेमाल करने से रोका, तो बेटी ने गुस्से में आकर उठा लिया गलत कदम

135

आजकल की युवा पीढी के लिए मोबाइल फोन बहुत ही अधिक महत्त्वपूर्ण अंग बन चुका है और लोग इसका इस्तेमाल भी जमकर के आपको करते हुए लगभग हर जगह पर मिल ही जायेंगे लेकिन जब बात आती है अति की तो ये हो जाने पर किसी भी चीज को ठीक कहना सही नही होता है और ऐसा ही कुछ अभी के केस में भी होते हुए नजर आ रहा है. खैर जो भी है अभी की बात अगर हम लोग करते है तो हाल ही में भी ऐसा ही कुछ देखने में आया है.

माँ ने मोबाइल यूज करने से रोका, बेटी ने जीवन समाप्त कर लिया
अभी हम जिस केस के बारे में आपको बता रहे है वो उत्तर प्रदेश के इटावा शहर का है जहाँ पर रहने वाली एक लडकी जिसका नाम सलोनी सिंह है उसे फोन चलाने का बहुत ही ज्यादा शौक था और इस वजह से उसकी माँ काफी परेशान थी. कुछ दिन पहले की बात है जब माँ ने अपनी बेटी सलोनी को फोन चलाने की आदत की वजह से खूब डांट लगाई और फिर वो चली गयी, उनको उम्मीद थी कि बेटी कुछ सुधार करेगी.

मगर इसका असर उसपर उल्टा ही हुआ. उसने पंखे पर कपड़ा लगाया और उसके जरिये अपनी जान ही दे दी. घर वालो को जैसे ही पता चला तो वो उसे बचाने की कोशिश करने लगे और अस्पताल ले जाने लगे लेकिन वो अब जा चुकी थी. पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच की है और पता चला है कि बच्ची बातो को गलत तरीके से ले गयी और उसने गलत दिशा मिलने के कारण से ये इस तरह का कदम उठा लिया जो जाहिर तौर पर उसे नही उठाना चाहिए था.

पेरेंटिंग सीखना है बेहद जरूरी
आज के समय में अगर बच्चो को एक काबिल इंसान बनाना और उनको गलत की तरफ बढ़ने से रोकना है तो एक अच्छी पेरेंटिंग सीखना जरूरी है, इसमें आप बच्चो के ऊपर हावी होकर नही बल्कि उनके साथ बैठकर के उनकी समस्याओं को सुनते हुए उनकी आदतों को सुधारने का प्रयास करे तो ज्यादा बेहतर रहता है.