वित्तमंत्री सीतारमण ने रखा देश का बजट, जानिये इसकी 11 बड़ी बाते

73

हर वर्ष की तरह इस बार भी देश का पूरा बजट रखा गया और संसद में ये जब आया तो हमेशा की तरह ये पुराने टाइप का नही था जिसमे ढेर सारे पेपर होते थे. ये पूरा पेपरलेस बजट था जिसमे वित्त मंत्री निर्मला सीतारामण जी ने टैबलेट पर पढ़ते हुए देश का इस साल का बजट पेश किया जिसे लेकर के लोग भी बहुत ही अधिक उत्साहित से नजर आये क्योंकि हर किसी को पूरी उम्मीद थी कि कुछ तो बड़ा होने ही वाला है और ऐसा हुआ भी.

कई बड़ी घोषणाएं है जो इस बजट में हुई. किसान से लेकर आम आदमी और उद्योगपति सब लोगो के लिए इस बार के बजट में बहुत ही सारी उपलब्धियां है और फायदे है जो रखे गये है. चलिए फिर इस बजट को कुछ एक मुख्य बिन्दुओ में समझ लेने की कोशिश करते है.

  1. सीनियर सिटिजन जिनकी उम्र 75 वर्ष से ज्यादा है उनको टैक्स भरने से राहत मिल गयी है. इनको आईटीआर भरने की भी जरूरत नही पड़ेंगे. ये सिर्फ पेंशन और ब्याज पर इनकम
  2. पहले टैक्स मामलो में 6 साल पुराने मामलो तक असेसमेंट हो सकता था लेकिन अब इसे सिर्फ 3 साल कर दिया गया है जिससे व्यापारियों को काफी आसानी रहेगी, अगर कोई बहुत गंभीर केस जिसमे करोडो का घपला है तो फिर उसमे 10 साल पुराने तक केस खोले जा सकेंगे.
  3. देश में लोगो को टीका लगाने के लिए 35 हजार करोड़ रूपये का ऐलान किया गया है.
  4. मोबाइल उपकरणों पर कस्टम ड्यूटी बढाकर के 2.5 प्रतिशत कर दी गयी है जिससे मोबाइल फोन महंगे हो सकते है.
  5. बीमा कम्पनियों में निवेश की सीमा जो फ़िलहाल 49 प्रतिशत है उसे बढाकर के अब 74 प्रतिशत कर दिया जाएगा.
  6. स्टील पर ड्यूटी घटाई जा रही है जिससे देश में स्टील और इससे जुड़े हुए उद्योग और तेजी से पनप सकेंगे और इनका व्यापार करने वालो को लाभ होगा.
  7. अगले तीन वर्षो में भारत में 7 टेक्सटाइल पार्क स्थापित किये जायेंगे जिससे हजारो रोजगार मिलेंगे और भारत में कपड़ा उद्योग काफी तेजी से पनप सकेंगा.
  8. आयकर स्लैब में इस बार कोई भी बदलाव नही किया गया है. पहले की ही तरह इस बार भी सब कुछ यथावत टैक्स सिस्टम रहने वाला है.
  9. ऐसी कम्पनियां जो सरकार को ठीक से प्रॉफिट नही दे पा रही है उनके आईपीओ लाये जायेंगे या फिर उनके अन्दर हिस्सेदारी बेचीं जायेगी.
  10. सोने और चांदी पर ड्यूटी घटाकर के 12.5 प्रतिशत कर दी गयी है जिससे ये आने वाले वक्त में सस्ता होने वाला है और ये एक अच्छा कदम हो सकता है.
  11. वायु प्रदूषण को रोकने के लिए भी 2217 करोड़ रूपये की घोषणा की गयी है जिससे देश के लोगो को साफ़ सुथरी हवा मिल सके.