सरकार ने आन्दोलन के बाद भी नही मानी बात, तो किसान संगठनों ने दी अब ऐसी धमकी

137

अभी दिल्ली की सीमा पर काफी ज्यादा बवाल हो रहा है और जो स्थिति है वो तो हर कोई देख ही पा रहा है कि क्या कुछ हो रहा है और अपने आप में ये बहुत ही अधिक चिंता का विषय  भी है क्योंकि एनसीआर में हालात सामान्य स्थिति में होते हुए तो बिलकुल भी नजर आ नही रहे है और ऐसे में आगे क्या ही होगा ये तो कोई भी नही जानता है. अगर हम अभी की बात करते है तो फिर अभी के हिसाब से सरकार और किसानो के बीच में कोई सहमती नही बनी है.

किसान संगठनों ने किया ऐलान, अब अदानी अम्बानी और बीजेपी नेताओं का बहिष्कार करेंगे
आप अभी जो होने जा रहा है उसे एक तरह से सरकार के लिए इन संगठनों की धमकी कह सकते है. किसान संगठनों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी बात नही मानी जाती है तो फिर 12 दिसम्बर को वो देश भर में टोल प्लाजा को फ्री कर देंगे, 14 दिसम्बर को देश भर में धरना प्रदर्शन होगा और इसके बाद में अदानी और अम्बानी के प्रोडक्ट्स जैसे जियो आदि का बहिष्कार किया जायेगा. इसके अलावा ये लोग बीजेपी नेताओं के बहिष्कार की बात भी कर रहे है.

किसान संगठनों का कहना है कि ये बिजनेसमेन सरकार के नजदीकी है और इनको फायदा पहुंचाने के लिए ये सब हो रहा है तो हम इनका बहिष्कार करेंगे और ये एक तरह की धमकी जैसा ही है कि हम अपने ही देश के प्रोडक्ट का बहिष्कार कर देंगे अगर हमारी मनमानी नही मानी जाती है और कही न कही सरकार भी अब इस तरह से मामला बढ़ते हुए देखकर के काफी ज्यादा परेशान होते हुए नजर आ रही है.

ऐसे में आगे क्या स्थिति बनेगी और क्या इस पर कोई हल निकलता है या फिर जो ये भी बाते किसान संगठनों ने कही है वो करना शुरू करते है. हालांकि इनके पास में उतना बड़ा जनसमर्थन नही है कि ये बहिष्कार जैसे आँदोलन बड़े स्तर पर सफल बना सके.