इतने दिन किसानो के प्रदर्शन चलने के बाद आखिरकार पीएम मोदी का बड़ा बयान आया

1080

अभी देश भर में किसानो को लेकर के चर्चाएँ काफी जोरो पर चल रही है और कही न कही इसके कारण देश भर में बीजेपी के ऊपर काफी अधिक प्रेशर आ भी रहा है कि वो इस पर कुछ करे. अब ऐसे में क्या ही होगा कोई नही जानता है क्योंकि विपक्ष हो या फिर किसान युनियन हो सब लोग मोदी सरकार पर पुराने क़ानून वापिस लेने का दबाव बना रहे है और इन सबके बीच में खुद प्रधानमंत्री जी का बड़ा बयान आ गया है जो एक बहुत ही बड़ा रिमार्क साबित हो सकता है.

पीएम मोदी ने साफ़ शब्दों में कहा, नयी शताब्दी पुराने कानूनों पर नही बना सकते
अभी किसानो के काफी ज्यादा प्रदर्शन चले है और ऐसा लगा था कि ऐसे में सरकार के सुर बदल भी सकते है लेकिन हाल ही की स्थिति को अगर आप देखेंगे तो पीएम मोदी के शब्दों को देखकर के लग नही रहा है कि वो इस बड़े रिफोर्म से किसी भी तरह पीछे हटने के मूड में भी है. उन्होंने बाकायदा अपने बयान में कहा कि नयी शताब्दी पुराने कानूनों पर खड़ी नही हो सकती है.

अपने बयान में वो कहते है कि कुछ क़ानून भूतकाल में पिछली शताब्दी अच्छा हुआ करते थे लेकिन आज की शताब्दी में वो एक बोझ बन चुके है. रिफोर्म एक सतत प्रक्रिया होनी चाहिए. पहले सुधार सिर्फ टुकड़े टुकड़े में होता था या फिर कुछ सेक्टर या विभागों को ध्यान में रखकर के ही किया जाता था. पीएम मोदी का ये बयान भारत बंद से एक दिन पहले आया है और ये काफी अहम् माना जा रहा है.

इससे इतना साफ़ है कि मोदी जी का मनोबल अभी काफी मजबूत है और इन छोटे मोटे हवा के झोंको से वो हिलने के मूड में बिलकुल भी नही है क्योंकि देश भर के बाकी किसानो की आवाज वो सुन और समझ चुके है कि अब उनको रिफोर्म की जरूरत तो है.