मोदी जी ने 26 जनवरी को इस शक्तिशाली व्यक्ति को भेजा मुख्य अतिथि बनने का न्योता

324

इस देश में हर वर्ष जब भी राष्ट्रीय पर्व आते है तब किसी न किसी विश्व के बड़े और शक्तिशाली व्यक्ति को न्योता भेजा जाता है और कोशिश की जाती है कि वो आकर के भारत के इस पर्व का हिस्सा बने ताकि और भी ज्यादा दोनों ही देशो के बीच में एक बोन्डिंग बने और कही न कही ये चीज जरूरी भी होती है क्योंकि इससे दोनों देश आपस में करीब आते है जैसे मोदी जी पहले ओबामा से लेकर कई बड़े बड़े लोगो को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित कर चुके है.

इस बार गणतंत्र दिवस पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जोनसन को भेजा गया निमंत्रण
अभी गणतंत्र दिवस कोई हमेशा की तरह बहुत ही शानदार तरीके से आयोजित नही होगा ऐसा लग रहा है क्योंकि करोना के कारण बहुत ही बंधन हो गये है लेकिन इस बार की बड़ी खबर ये है कि इस दफा गणतंत्र दिवस पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जोनसन को भारत के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनने का मौका दिया गया है और ये अपने आप में एक बहुत ही बड़ी अपडेट है क्योंकि ऐसा आम तौर पर पिछले समय में कम ही देखा गया है.

इसके पीछे कई कारण भी है. अभी अमेरिका में तो ट्रम्प जा रहे है और बाईडन आ रहे है तो ऐसे में अभी का अभी बाईडन को बुलाया नही जा सकता है मगर अभी बोरिस को बुलाया जाना काफी सुखद हो सकता है क्योंकि उनकी पार्टी भारत के प्रति काफी सॉफ्ट है, फिर उनकी मोदी जी से काफी सही बनती भी है और तो और बोरिस जोनसन वैचारिक रूप से भी राईट विंग के माने जाते है और फिर वो अमेरिका के अलाई तो है ही.

ऐसे समय में ब्रिटेन से मित्रता बढ़ाना काफी फायदे का सौदा हो सकता है और सरकार उसी को एग्जीक्यूट कर रही है. हालांकि अभी स्थिति थोड़ी संदेहास्पद चल रही है तो ऐसे में आगे चलकर के क्या होगा ये कोई भी कह नही सकता है.