किसान प्रदर्शन पर अमरिंदर सिंह ने की अमित शाह से मुलाक़ात, फिर दिया ऐसा बयान

310

अभी किसान काफी अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे है और इसमें राजनीतिक हित और नुकसान चाहे किसी के भी हो लेकिन सरकारी नजरिये से देखे तो पंजाब, हरियाणा और दिल्ली इन तीनो राज्यों का काफी अधिक आर्थिक नुकसान हो रहा है. यही नही केंद्र सरकार को भी दिक्कत हो रही है और इसी के चलते हुए इन सबके बीच में हाल ही में अमरिंदर सिंह ने अमित शाह से मुलाकात की थी और ये बातचीत काफी देर तक चली जिसके बाद में लोगो को उम्मीद लग रही थी कि कुछ तो हल निकलेगा.

अमरिंदर बोले, मेरा कोई लेना देना नही ये किसान और सरकार के बीच की बात
पंजाब के मुख्यमंत्री जब अमित शाह से मीटिंग करके आये तो उन्होंने साफ़ शब्दों में कहा कि इसमें मेरा कोई भी रोल नही है ये वार्ता सिर्फ और सिर्फ किसानो और सरकार के बीच की है. मेने अमित शाह जी से अपना विरोध जता दिया है है और बाकी मैं और कुछ यहाँ कर नही सकता हूँ. ये बात उन्होंने तब कही जब उन्होंने काफी लम्बी मुलाक़ात अमित शाह से जाकर की है.

इसके अलावा भी पंजाब के कई खिलाड़ी और नेता मंत्री भी सामने आये है और सभी अपने अपने जो पद्म भूषन और विभूषण अवार्ड है वो वापिस करने की बात कर रहे है और सब कुछ इसी क़ानून के विरोध में हो रहा है. कही न कही अब मोदी सरकार पर एक बहुत ही ज्यादा भारी दबाव बन रहा है जिससे निपट पाना उतना सम्भव नजर आ नही रहा है तो ऐसे में फिर अब आगे चलकर के क्या होगा? किसी को भी मालूम नही है हाँ सरकार चाहे तो अभी भी इनसे सख्ती के साथ में निपट सकती है.

अमरिंदर सिंह पर केजरीवाल ने आरोप लगाये है कि वो इसमें बीजेपी की मदद कर रहे है या फिर कोई दबाव में है जिसके चलते वो बस झूठ बोल रहे है. अब अमरिंदर सिंह की भूमिका कितने संदेह में है ये तो कोई नही जानता लेकिन अभी सरकार काफी कशमकश में जरुर है.