उद्धव ठाकरे का बीजेपी को लेकर विवादित बयान, कहा मैं नामर्द नही और तुम्हारी औकात..

225

शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इन दिनों में काफी ज्यादा गुस्स्से से होकर के गुजर रहे है क्योंकि जब से वो सत्ता में आये है तब से उनको बीजेपी की तरफ से कभी न कभी हर बार दिक्कतों का सामना करना ही पड़ा है और सीबीआई से लेकर ईडी की फ्रीक्वेंसी भी महाराष्ट्र में काफी बढ़ गयी है इसके बाद में अब उद्धव ठाकरे ने अब लगातार अपने खिलाफ काम कर रहे लोगो के खिलाफ हमला बोला है, यही नही इस बार उनके शब्द काफी ज्यादा कड़े और कडवे है.

मैं शांत हूँ और संयमी हूँ इसका मतलब मैं नामर्द नही हूँ
उद्धव ठाकरे ने अभी हाल ही में सामना के सम्पादक संजय राउत को बयान दिया जिसमे उन्होंने कहा कि मैं शांत हूँ और संयमी हूँ इसका मतलब ये नही है कि मैं नामर्द हूँ. हमारे परिजनों पर हमले किये जा रहे है ये महाराष्ट्र की संस्कृति नही है. आप दूसरो के परिवार पर निशाना लगाते हो तो हम पर हमला  करने वालों को इतना कहना चाहता हूँ कि आपके भी परिवार और बच्चे है और आप भी दूध के धुले नही हो. आपकी खिचड़ी कैसे बनानी है ये मुझे पता है.

मैं उनको करुना की नजर से देखता हूँ .जिन लोगो को लाश पर मक्खन बेचने की जरूरत है वो लोग राजनीति करने के लायक लोग ही नही है. दुर्भाग्य से एक व्यक्ति की जान चली गयी है आप उसकी लाश पर राजनीति करते हो? कितने निचले स्तर पर आप जाओगे ये बड़ी गन्दी राजनीति है और जिसे हम लोग मर्द कहते है वो मर्द की तरह लड़ता है.

किसी की जान चली गयी है आप आप उसके ऊपर राजनीति करते हो उसके ऊपर अलाव जलाकर के आप रोटियां सकते हो, यही आपकी औकात है? आगे उद्धव ठाकरे ने ये तक कह दिया कि अगर बदले की भावना से काम करोगे तो हम एक के बदले दस करेंगे. मुख्यमंत्री बनने के बाद में इतनी तल्खी उनके शब्दों में पहली बार नजर आयी है.