कांग्रेस के अन्दर का झगडा और बढ़ा, अमरिंदर सिंह ने इनको पार्टी से निकल जाने को कहा

308

अभी कांग्रेस पार्टी लगातार आपस में ही विभाजित होते हुए नजर आ रही है और कही न कही ये उनके भविष्य के लिए संकट की तरह ही देखा जा रहा है और ऐसा आम तौर पर होता ही है कोई भी पार्टी लगातार एक के बाद में एक चुनाव हारती चली जाती है और कांग्रेस पार्टी के साथ में संभवतः तौर पर ऐसा ही कुछ होते हुए दिख रहा है. अगर हम अभी की बात करे तो इस पूरे झगडे में अमरिंदर सिंह भी कूद पड़े है जो कि वर्तमान में पंजाब के मुख्यमंत्री बने हुए है.

सिब्बल और आजाद जैसे नेताओं को अमरिंदर की बिना नाम लिए नसीहत, जाना है तो छोड़कर चले जाए
आपको मालूम ही होगा कि अभी हाल ही में कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद जैसे कई नेताओं ने पार्टी के नेतृत्व पर सवाल खड़े किये थे और इस पर अब पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह खुलकर के बोले है और उन्होंने अपने बयान में कहा कि कांग्रेस पार्टी में अब तक लोकतंत्र है और सोनिया गांधी जब तक चाहेगी तब तक पार्टी की अध्यक्ष बनकर के रहेगी.

आगे कैप्टन ने कहा कि पार्टी के विषयो को सार्वजनिक मंच के ऊपर उठाना है वो चाहे तो पार्टी छोड़कर के जा सकते है. यहाँ पर उनका इशारा साफ़ तौर पर कपिल सिब्बल के ऊपर था. कौन कहता है कांग्रेस में लोकतन्त्र नही है? कोई भी मुद्दा है तो आपको उसे सार्वजनिक मंच पर नही बल्कि अन्दर उठाना चाहिए, अगर आप पार्टी छोड़ना ही चाहते है तो छोड़कर के चले जाइए.

अभी गांधी परिवार और हाई कमान की बात अगर करे तो इनके खिलाफ जो कोई भी आवाज उठा रहा है उसे ऐसे ही व्यवहार का सामना करना पड़ रहा है और ऐसे में शायद लोग उनके खिलाफ बोलना बंद ही कर दे क्योंकि अपनी रही सही कुर्सी और पॉवर भी कौन ही गंवाना चाहेगा.