शिवसेना नेताओं के घर पर ईडी के छापे, टेंशन में आयी पार्टी

238

महाराष्ट्र की राजनीति में जो राजनीतिक संघर्ष चल रहा है वो किसी से भी छुपा हुआ नही है और ऐसे में कई ऐसी चीजे होती रहती है जो अनापेक्षित रहती है और ये कह पाना मुश्किल होता है कि क्या इसमें कोई राजनैतिक मंशा है या फिर ये वाकई में एक सटीक कार्यवाही है. वैसे अभी की जो खबर है वो थोड़ी सी परेशानी खड़ी करने वाली है क्योंकि शिवसेना को अब प्रवर्तन निदेशालय का सामना करना पड़ रहा है और ये पार्टी को काफी ज्यादा परेशान भी कर रहा है.

शिवसेना नेता प्रकाश सरनाईक के घर ईडी, बेटे को हिरासत में लिया
अभी की जानकारी है कि पुणे से लेकर ठाने में जगह जगह पर ईडी के द्वारा रेड की गयी है जिसमे केंद्र पर प्रताप सरनाईक है. ईडी को शक है कि उन्होंने कोई बड़ा आर्थिक लेन देन छुपाया है. इस मामले में न सिर्फ छापेमारी हुई है बल्कि उनके एक बेटे विहंग को हिरासत में ले लिया गया है जबकि दुसरे बेटे  के घर की जांच अभी भी चल ही रही है. ये सब इतना अचानक से हुआ है कि किसी को लगभग कानो कान खबर तक न थी कि ऐसा कुछ होने भी जा रहा है.

इस घटना के बाद में शिवसेना काफी दबाव में नजर आ रही है और उनकी तरफ से प्रतिक्रिया आयी है कि केंद्र सरकार अपनी एजेंसियों का प्रयोग शिवसेना और इसके साथियो के खिलाफ कर रही है ताकि ये सरकार टूट जाए. वही संजय निरूपम ने इस मौके पर बीजेपी का समर्थन किया है और कहा है कि अगर ये सब कुछ बिना किसी राजनीतिक द्वेष के किया जा रहा है तो फिर ये जरुर होना चाहिए.

शिवसेना के लोगो ने पिछले एक दशक में खूब भ्रष्टाचार किया है, बालासाहेब कांग्रेस पर आरोप लगाते थे लेकिन उनके आस पास जो लोग ये सब करते है वो उनकी नजरो से बच गये. माना जा रहा है कि ईडी आगे भी काफी सख्त कार्यवाही कर सकती है.