संजय राउत ने बीजेपी पर लगाया आरोप, कहा ये लोग सिर्फ हमारा..

99

भाजपा और शिवसेना जब से अलग हुए है उसके बाद से ही संजय राउत लगातार बीजेपी पर आक्रामक ही रहे है और कही न कही ये स्थिति अपने आप में काफी गंभीर हो जाती है जब संजय राउत बीजेपी की विचारधारा पर ही सवाल खड़े करने लगते है, तब सामने से भी जवाब आता है और मीडिया ट्रायल शरू हो जाता है. अब हाल ही में ही ऐसा कुछ फिर से हुआ है जब राउत ने बीजेपी पर विचारधारा और विरोध से जुड़े हुए बड़े बड़े आरोप लगाते हुए बयान दिए है.

बीजेपी को बताया जनता का दुश्मन, कहा जो सावरकर को भारत रत्न न दे सके वो जेएनयू का नाम बदलने की बात करते है
अभी हाल ही में सामना की पत्रिका जब फिर से आयी तो उसमे राउत ने निशाने पर पूरी तरह से बीजेपी ही थी. उन्होंने अपने बयान में कहा कि महाराष्ट्र में बीजेपी शिवसेना और इसके साथी पार्टियों की सरकार का विरोध सिर्फ विरोध के लिए कर रही है. करोना के खिलाफ लड़ाई को जो लोग हिंदुत्व से जोड़ते है वो लोग ही जनता के असल दुश्मन है. राजधानी दिल्ली में जल्दी ढील दे दी गयी जिससे वहां पर अब तेजी से केस बढ़ रहे है अब वहाँ फिर से एक और लॉकडाउन की स्थिति आ सकती है.

महाराष्ट्र के बीजेपी नेताओं को इस बारे में सोचना चाहिए. बीजेपी के नेताओं ने छठ पूजा की परमिशन के लिए धरना प्रदर्शन किया आपने भले बिहार का चुनाव जीत लिया हो लेकिन बिहार की जनता को इसमें घसीटने की जरूरत नही है. लाखो लोग समंदर किनारे जुटते तो ये गलत ही है. बीजेपी एक और राज्य में लॉकडाउन चाह रही है तो ये दुर्भाग्य से भरा है जो लोग सावरकर को भारत रत्न नही दे सके वो लोग जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय का नाम बदलने की योजना बना रहे है.

माना जा रहा है कि जेएनयू के नाम बदलने के ऊपर बीजेपी पर तंज कसके राउत कही न कही अपनी सहयोगी पार्टी कांग्रेस को खुश करना चाह रहे है.