फ्रांस अब ऐसा काम करने वाला है, जिससे मुस्लिम बुरी तरह नाराज हो गये है

156

फ्रांस के पिछले कुछ वर्षो से जो एक्शन रहे है वो अपने आप में काफी अधिक सख्त रहे है और ये इसलिए भी हुआ है क्योंकि जो शरणार्थी लोग फ्रांस में आये है उनके साथ में फ्रांस का काफी विरोधाभास होने लगे. इसके बाद में कई फ्रांस के नागरिको की जान ले ली गयी और कारण मजहब बना जिसके बाद में अब फ्रांस की सरकार काफी अधिक सख्त होते चली जा रही है और अब ऐसा कुछ करने जा रही है जिसे लेकर के कई जगहों पर प्रदर्शन आदि भी हुए है.

फ्रांस में बनाया जा रहा मुस्लिमो के लिए विशेष चार्टर, करना ही पड़ेगा फॉलो
अभी जितनी जानकारी मौजूद है उसके अनुसार फ्रांस की सरकार एक विशेष चार्टर लाने जा रही है जिसे लेकर के वहाँ के राष्ट्रपति इमेनुअल मेक्रोन काफी अधिक स्पष्ट है कि उनको ये करना ही है. उन्होंने फ्रेंच काउंसिल ऑफ मुस्लिम फेथ के सदस्यों को मिलकर के उन्हें 15 दिन की मोहलत दी और कहा  इस पर सहमती बना ले. इस चार्टर में सबसे बड़ी और अहम् बात ये है कि फ्रांस में इस्लाम सिर्फ एक धर्म रहेगा कोई  भी राजनीतिक आँदोलन नही होगा. इनको या इससे जुडी किसी संस्था को विदेश से फंडिंग नही मिल सकती है.

बात सिर्फ इतनी ही नही है कई कठिन क़ानून भी लागू किये जा रहे है जैसे कोई भी धार्मिक आधार पर किसी अधिकारी को डराता करता है तो उसे सजा दी जायेगी, हर बच्चे के लिए एक विशेष नम्बर अलोट किया जायेगा जिससे उसके बारे में कभी भी सर्चिंग की जा सकती है और पता किया जाएगा कि वो स्कूल भेजा जा रहा है या नही? अगर माँ बाप उसे नही भेज रहे तो उनको सजा मिलेगी.

ये तो सिर्फ एक नजारा भर है इसके अलावा भी पुलिस से लेकर प्रशासन को काफी पॉवर है जो दी जा रही है जिससे कि दुनिया भर के मुस्लिम नाराज हो रहे है और आरोप लगा रहे है कि फ्रांस गलत कर रहा है. खैर फ्रांस की सरकार लोकतंत्र में यकीन रखती है और वो उसी तरह से उसे कर भी रही है.