अब मोदी सरकार ने ऐसा प्रोजेक्ट लांच, पूरी दुनिया की नींदे उडी हुई है

181

मोदी सरकार जब से सत्ता में आयी है उसके बाद से ही लगातार एक तरह से कुछ न कुछ ऐसे काम कर रही है जिससे भारत में कुछ एक रिवोल्यूशनरी बदलाव आ सकते है और ये बदलाव अपने आप में बेहद ही ख़ास तौर पर देखे गये है. चाहे वो टैक्स सिस्टम को बेहतर करना हो, शिक्षा नीति बदलना हो या फिर आत्मनिर्भर भारत का ऐलान करना हो. वैसे अब लग रहा है कि सरकार ईंधन के मामले में भी देश को आत्मनिर्भर बनाने की तरफ काम करना चाहती है.

भारत में भी खोजा जाएगा क्रूड आयल, भंडार मिल गये तो विदेशो पर निर्भरता खत्म होगी
ऐसी बात नही है कि भारत में क्रूड आयल और नेचुरल गैस के भण्डार नही है. गुजरात से लेकर राजस्थान और कई राज्य है जिनमे इनके भण्डार फैले हुए है लेकिन अब तक जितना भी मिला है वो काफी सीमित है और क्योंकि हमें विदेशो से तेल मिल जाता था तो कभी सरकारों ने ये सोचा ही नही कि भारत इतना विशाल देश है तो इसमें भी तेल की खोज की जाए और मॉडर्न तरीके से खोजने पर जल्दी मिल भी सकता है.

इसी सोच के साथ में मोदी सरकार ने एक 220 करोड़ रूपये का मेगा प्रोजेक्ट लांच किया है जिसके तहत उडीसा राज्य में तेल की खोज की जायेगी क्योंकि अभी वैज्ञानिको को वहाँ की संभावना सबसे अधिक नजर आ रही है, इसके बाद में ये और भी राज्यों में होगा. अगर इतना तेल भी मिल जाता है कि भारत अपनी खपत का इंतजाम कर ले तो फिर ये दुनिया में एक बहुत ही बड़ा डिसरपशन होगा और अगर उससे भी ज्यादा निकल आता है तो भारत एक आयल एक्सपोर्टर के रूप में भी उभर सकता है.

ऐसे में वो देश जो भारत को तेल बेचकर के अरबो खरबों रूपये कमाते है वो तो टेंशन में आयेंगे ही और ये एक बड़े इकनोमिक बदलाव की तरफ भी जा सकता है बाकी तो आगे चीजे किस्मत पर ही निर्भर करेगी.