कांग्रेस और गांधी परिवार के अंदर अचानक से मचा हाहाकार, खड्गे के बयान ने बढाई टेंशन

528

लगातार एक के बाद एक राज्य और केन्द्रीय चुनावो में हार का मुंह देखने के बाद में अब कांग्रेस पार्टी लगातार अन्दर ही अन्दर टूट रही है जिसमे एक से दो और तीन गुट बन चुकी है और ये कोई छोटे मोटे नही बल्कि शीर्ष नेताओं में बने है. पहले कपिल सिब्बल ने हाई कमान को निशाने पर लिया, फिर चिदम्बरम ने भी पार्टी के फैसलों पर सवाल उठाये तो दूसरी तरफ सलमान खुर्शीद ने तो सवाल उठाने वालों को पार्टी से ही निकल जाने ऐसे बयान दिए और अशोक गहलोत ने भी यहाँ पर पर गांधी परिवार का बचाव किया, कांग्रेस के सब नेता मीडिया में आकर के बोले जा रहे है.

दबाव में आया गांधी परिवार, खड्गे बोले सहयोगी ही कर रहे कांग्रेस को बर्बाद
जिस तरह से लगातार कपिल सिब्बल, अधीर रंजन चौधरी, सलमान खुर्शी और चिदम्बरम जैसे बड़े बड़े नेता मीडिया और सोशल मीडिया में आकर के अपनी ही पार्टी के ऊपर सवाल कर रहे है उसके बाद गांधी परिवार दबाव में आ गया है और मल्लिकार्जुन खड्गे उनकी तरफ से बोले है ऐसा प्रतीत हो रहा है.

खड्गे ने कहा कि मैं कुछ वरिष्ठ नेताओं के द्वारा पार्टी और हमारे ही नेताओं के लिए दिए गये बयान के कारण आहत हूँ. एक तरफ हमारे सामने बीजेपी और आरएसएस की चुनौती है और दूसरी तरफ ये आतंरिक कलह है. जब तक हम लोगो को हमारे ही लोग कमजोर करेंगे तो हम आगे नही बढ़ सकते है. हम लोगो की विचारधारा खत्म हो गयी तो हम नही बचेंगे. खड्गे ने साफ़ शब्दों में कहा कि हमारे ही अपने लोग है जो हमें खत्म कर रहे है और उनका कुछ करना होगा.

ऐसे में कांग्रेस पार्टी में ये जो उपरी स्तर पर दो धड़े बन रहे है वो कही न कही पार्टी को अन्दर ही अंदर कमजोर कर रहा है और ऐसी स्थिति में आगे चलकर के क्या होगा? ये कोई भी नही जानता है. गांधी परिवार का कोई भी सदस्य इस पर कुछ कह नही रहा है.