योगी आदित्यनाथ के इस काम से बुरी तरह नाराज हुए अशोक गहलोत, दे दिया इतना बड़ा बयां

181

देश में अभी दो ही मुख्य पार्टियाँ है जो अलग अलग राज्यों में शासन में है और दोनों ही पार्टियाँ और उसके नेता अपने अपने तरीके से कार्य करते है. आपको मालूम हो तो उत्तर प्रदेश में लव जिहाद को लेकर के सबसे पहले मांग उठी थी कि इस पर क़ानून बने और रोका जाए. इस पर योगी सरकार ने कार्यवाही शुरू कर दी है और जल्द ही विधि आयोग क़ानून बनाकर लागू करने वाला है, योगी आदित्यनाथ के पीछे मध्य प्रदेश की सरकार और अब हरियाणा की खट्टर सरकार भी इसी टाइप का ही क़ानून लाने पर कार्य करने में लग गयी है.

अशोक गहलोत ने इसे बताया देश को बांटने वाला, ये आजादी छीनने के जैसा है
उत्तर प्रदेश की सरकार और बाकी राज्यों में बीजेपी की सरकार जो भी ये कार्य कर रही है इसके खिलाफ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुलकर के उतर आये है और इसे गलत बताया है. अशोक गहलोत ने ट्वीट में लिखा कि लव जिहाद देश को तोड़ने के लिए और सद्भाव बिगाड़ने के लिए बीजेपी द्वारा निर्मित एक शब्द है. शादी एक निजी स्वतंत्रता का मामला है और इस पर अंकुश लगाने के लिए क़ानून लाना असंवैधानिक है जो किसी भी कोर्ट में खड़ा नही हो सकेगा.

ये लोग देश में ऐसे वातावरण का निर्माण कर रहे है जहाँ पर व्यसक सिर्फ स्टेट की दया पर जीवन जियेंगे. शादी एक निजी फैसला है और इस पर रोक लगाना व्यक्तिगत स्वतंत्रता को छीन लेने जैसा है. अशोक गहलोत ने साथ ही साथ में ये भी कहा कि ये जो भी हो रहा है वो राज्य के संवैधानिक प्रावधानों की अवहेलना है. सिर्फ अशोक गहलोत ही नही बल्कि पूरी कांग्रेस का स्टैंड भी यही ही है.

अब ये एक ऐसी स्थिति है जिसमे राज्यों की सरकारे आपस में भिड़ती हुई नजर आ रही है और इतना तो साफ़ हो ही चुका है कि ये क़ानून बनने के बाद में कोर्ट में इनको चुनौती दी जायेगी और फिर अंत में क्या निर्णय आता है ये देखने वाली ही बात होगी.