अब फारूक अब्दुल्ला ने शाह को बिलबिलाते शब्दों में कहा, अमित शाह ने मेरा..

683

अभी कश्मीर में जिस तरह के हालात बने हुए है वो अपने आप में काफी अधिक टेंशन और तनाव वाला माहौल बनाने वाले है. इस बात को हर कोई बहुत ही अच्छे तरीके से समझता भी है क्योंकि अभी कश्मीर में अपनी लड़ाई हार चुके नेताओं ने मिलकर के एक गुपकार ग्रुप बनाया है जिसका मकसद 370 को वापिस लाना है और इसके इस समबन्ध में अमित शाह ने इनको विदेशी ताकतों के हाथो में खेलने वाला करार दिया और उनके बयान के बाद कांग्रेस भी गुपकार से अलग हो गयी है, जिसके बाद फारूक अब्दुल्ला बिलबिलाने लगे है.

फारूक बोले, मुझे नही लगता अमित शाह ने फारूक अब्दुल्ला के इतिहास को पढ़ा है
अभी हाल ही में फारूक अब्दुल्ला ने देश के सबसे बड़े मीडिया समूह इंडिया टुडे को इंटरव्यू दिया जिसमे उन्होंने कहा कि गृह मंत्री का ये कहना बड़ा ही दुखद और दुर्भाग्य से भरा हुआ है. आगे वो काफी अलग टोन में जाकर के कहते है कि मुझे नही लगता उन्होंने फारूक अब्दुल्ला के इतिहास को पढ़ा है. मेने हर मंच पर देश का बचाव किया है. मैं देश का विरोधी हो ही नही सकता हूँ.

बीजेपी की दिक्कत ये है कि जो भी उनके साथ में नही है वो देश के साथ नही है वो देश का विरोधी है और जो बीजेपी में है वो लोग देश  भक्त है. गुपकार सिर्फ कश्मीर या फिर यहाँ के मुसलमानों के बारे में नही है. हमने झंडे को उंचा रखा है और इसके लिए मेरे कई कार्यकर्ताओं ने अपनी जान भी दी है. अब्दुल्ला कहते है कि हम भारत के साथ है और रहेंगे लेकिन दिल्ली के साथ कश्मीर का रिश्ता कमजोर हुआ है.

खैर अभी कांग्रेस इनके गुट से अलग हो गयी है तो फिर इनका कोई ख़ास महत्त्व रह नही जाता है. हालांकि महबूबा मुफ़्ती और अब्दुल्ला दोनों का यही कहना है कि कांग्रेस हमारे साथ है लेकिन वो कोने में खड़ी है वो खुलकर के सामने आने में हिचकिचा रही है.