सिब्बल के बाद चिदम्बरम ने भी उठाये सवाल, गांधी परिवार चौतरफा फंसा

178

अभी फ़िलहाल की स्थिति कांग्रेस पार्टी की ऐसी हो रही है कि उनके लिये किसी भी तरह से जीत हासिल कर पाना लगभग मुश्किल से भी कई कदम आगे निकल चुका है और लगातार पार्टी कुछ एक सीट बमुश्किल ही निकाल पा रही है और इसका श्रेय  जाहिर तौर पर पार्टी कमान को जाएगा जो कि अभी दिनों में तो गांधी परिवार ही है और इसी के खिलाफ कई आवाजे उठने लगी है. अभी हाल ही में सिब्बल ने सवाल उठाते हुए कहा था कि पार्टी वालो ने हार को ही किस्मत मान लिया है और अब चिदम्बरम वही दोहरा रहे है.

चिदम्बरम ने कांग्रेस के फैसलों पर उठाये सवाल, कहा हम जमीनी स्तर पर कही नही
पूर्व वित्त मंत्री और जाने माने वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदम्बरम ने अभी हाल ही में कांग्रेस पार्टी को एक तरह से आइना दिखाने की कोशिश की है. चिदम्बरम कहते है कि उपचुनाव हो या फिर बिहार के चुनाव हो, नतीजे देखने पर यही पता चलता है कि जमीने स्तर पर पार्टी कही पर भी नही है. बिहार में जीत वाली स्थिति होने के बाद हार देखनी पड़ी है इसकी समीक्षा की अब वाकई में जरूरत है.

आगे उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व ने जो फैसले किये है उनपर भी सवाल खड़े किये और कहा कि पार्टी को सी बार सिर्फ 45 सीट्स पर ही चुनाव लड़ना चाहिए जबकि हमने ज्यादा पर चुनाव लड़ा है और उनमे से 25 सीट ऐसी थी जिनमे से 20 पर हर बार भाजपा जीतती रही है. चिदम्बरम के कहने का अर्थ ये था कि आपने सही सीटो पर उर्जा लगाने की बजाय ऐसी सीट जहाँ पर हारना दिख रहा है वहाँ पर अपनी ऊर्जा और पैसा व्यय क्यों किया?

इसी तरह की बाते सिब्बल ने भी कही थी जिसके चलते हुए उनको काफी ज्यादा विरोध झेलना पड़ा था और इस कदर झेलना पड़ा था कि खुर्शीद से लेकर अशोक गहलोत जैसे तमाम नेता और मंत्री उनको करारा जवाब देने में लग गये और उनके पास कुछ बोलने के लिए नही बचा.