अमित शाह ने कांग्रेस को ऐसा हड़काया, अपने ही किये फैसले से पलट गयी पूरी पार्टी

163

अभी राजनीति में अमित शाह एक बाहुबली के रूप में स्थापित हो चुके है जो कुछ भी बोलते या फिर करते है तो फिर उनकी बातो का अपना एक मतलब और मायना होता है इस बात में कोई भी शक नही है और कही न कही शाह जाने भी इसी कारण से ही जाते है. उनके बोलने में भी ऐसा दम होता है कि वो राजनीतिक मायनों को बदलने की ताकत और कूवत रखते है ऐसा साफ़ तौर पर दिखता है और कान्ग्रेस के साथ अभी जो हुआ है उसने तो इसे फिर से साफ़ कर दिया है.

गुपकार ग्रुप में शामिल हुई थी कांग्रेस, अमित शाह के बयान के तुरंत बाद बोला हम उसका हिस्सा नही है
आपको मालूम हो तो जम्मू कश्मीर में महबूबा और अब्दुल्ला जैसे लोगो ने मिलकर के एक गुपकार ग्रुप बनाया है जिसके मकसद कश्मीर में फिर से 370 लाना और पहले वाली स्थिति काबिज करना है. खबरे आने लगी कि कांग्रेस पार्टी इसके साथ में है, कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने भी इसमें साथ होने की बात बोली और कुछ कागजो में भी यहाँ पर कांग्रेस के नाम साफ हुए.

अब अमित शाह ने इस पर हमला बोलते हुए इसे देश तोड़ने वाला गुपकार गैंग करार दिया. शाह कहते है कि गुपकर गैंग जम्मू कश्मीर में विदेशी ताकतों का हस्तक्षेप चाहता है. ये तिरंगे का अपमान करता है. क्या सोनिया गांधी और राहुल गांधी इसका सपोर्ट करते है? उनको जनता के सामने अपना रूख स्पष्ट करना चाहिए. अमित शाह के बयानों के बाद में अपनी फजीहत होते हुए देखकर के कांग्रेस ने सामने आकर के खुदको खुलकर अलग कर दिया और सुरजेवाला ने तो ये भी कहा कि हम इसका हिस्सा नही है, अमित शाह की कही बाते गलत और भ्रामक है. हालांकि जानता तो हर कोई है कि कांग्रेस कब किसका हिस्सा बनी थी और अब क्यों पीछे हट गयी है.

वही महबूबा मुफ़्ती का कहना है कि कांग्रेस अभी दबाव में आ गयी है इसलिए ऐसा कर रही है. खैर अब कांग्रेस तो खुद ही समझ चुकी है कि अगर वो राष्ट्रवाद का विरोध करती है तो अपना बचा हुआ वोट भी धीरे धीरे खो सकती है इसलिए वो ऐसा कुछ करने से बच रही है.