बीजेपी ने छीना सुशील मोदी से उप मुख्यमंत्री का पद, तो उनके दोस्त नीतीश ने दिया ऐसा बयान

287

नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी दोनों ने ही के साथ में मिलकर के लम्बे समय से बिहार की सरकार चलाई है और इस दौरान इन दोनों के बीच में अच्छी खासी दोस्ती भी हो गयी थी जिसके बारे में अक्सर ही चर्चाएँ भी सुनने में आती रही है. इस बात को लेकर के बहुत सारे लोग तो बस यही ही कहते हुए नजर आ रहे है कि ये जो कुछ भी हुआ है उसमे सुशील मोदी को काफी दिक्कत होते हुए दिख ही रही है और जाहिर तौर पर वो होनी लाजमी सी बात भी थी.

नीतीश ने झाड़ा पल्ला, बोला बीजेपी से जाकर पूछो
नीतीश कुमार ने जब हाल ही में मीडिया से बातचीत की तो उनसे पुछा गया कि सुशील मोदी को दुबारा डिप्टी सीएम न बनाये जाने पर उनकी तरफ से किया प्रतिक्रिया है? इसके जवाब में उन्होंने साफ़ शब्दों में कहा कि ये फैसला भारतीय जनता पार्टी का है कि उन्हें डिप्टी सीएम न बनाया जाए, इस बारे में आप लोग बीजेपी से ही पूछिए. हमारा गठबंधन बीजेपी के साथ में है और हम उनके साथ मिलकर के काम करेंगे.

नीतीश की बातो को देखकर के इतना तो साफ़ तौर पर नजर आता ही है कि अब सुशील यहाँ नही रहे तो वो उसमे उतनी कुछ ख़ास दिलचस्पी नही रखते है. हालांकि बीजेपी को लेकर के वो काफी स्पष्ट है और दोस्ती निभाने की बात करते हुए भी कहते है कि जनता के फैसले के आधार पर हमने एनडीए ने सरकार बनाई है और हम लोग बिहार में अच्छा काम करेंगे व जनता की सेवा भी करेंगे.

नीतीश तो आगे बढ़ चुके है और अगले पांच साल उनके है ये साफ़ तौर पर नजर आ रहा है लेकिन बात करे अगर सुशील मोदी की तो माना ये जा रहा है कि उनको जल्द ही केंद्र में कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है और शायद ये पहले से बड़ी हो या फिर छोटी हो ये कोई नही जानता.