नीतीश फिर से बने सीएम, मगर बीजेपी ने सुशील मोदी को हटकर इनको बनाया उप मुख्यमंत्री

190

एक लम्बे चुनावी संघर्ष के बाद में नीतीश कुमार एक बार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री बन चुके है और कही न कही ये उनकी बड़ी जीत के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि इस बार उनके सामने तेजस्वी काफी तेजी से उभरे थे लेकिन नीतीश के सामने वो टिक न सके और बीजेपी के सपोर्ट के कारण नीतीश कुमार बिहार की सत्ता पर काबिज हुए है. मगर इस बार उनके मंत्रीमंडल में काफी बदलाव हुआ है और उप मुख्यमंत्री पद को लेकर के जैसे कयास लगाये जा रहे थे वैसा ही कुछ हो गया है.

सुशील मोदी की कुर्सी गयी, ताराकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को बनाया गया उपमुख्यमंत्री
सुशील मोदी का प्रभाव बिहार में इतने समय तक उप मुख्यमंत्री के पद पर रहने के बावजूद कुछ ख़ास हो नही पाया और इसी  के चलते अब भाजपा ने उनको रिप्लेस कर दिया है और सुशील मोदी की जगह इस बार रेनू देवी और ताराकिशोर प्रसाद ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है. दोनों ही पहली बार इतनी उंचाई पर पहुंचे है. बात करे अगर ताराकिशोर प्रसाद की तो वो कटिहार से अच्छे खासे मतों के साथ में चुनाव जीतकर के पहुंचे है.

वही बात करे अगर हम रेणु देवी की तो वो भी अच्छे खासे मतों के साथ में चुनाव जीतकर करके बेतिया से आयी है जिसके उपहार में उनको इस बार उप मुख्यमंत्री का पद मिला है और अब ये दोनों मिलकर के क्या अपनी निजी साख को मजबूत कर पाते है ये देखने वाली बात होगी. वीआईपी जिसने इस बार एनडीए का साथ दिया है उसमे से मुकेश साहनी को भी मंत्री पद की शपथ दिलवाई गयी है.

बात करे अगर सुशील मोदी की तो कहा जा रहा है कि उनके लिए भी बीजेपी ने कुछ सोच रखा है. माना जा रहा है इस बार उन्हें राज्य सभा से सांसद बनाकर के केंद्र में कोई जगह दी जायेगी और उनके लिए वही के कार्य सौंपे जाने है.