तेजस्वी ने कुर्सी हथियाने के लिए शुरू किया खेल, नीतीश को दिया पहला झटका

408

अभी चुनावी माहौल बिहार में खत्म हो चुका है लोग चुनाव भी पूरी तरह से देकर के अब चैन से बैठे है कि उन्होंने तो अपनी तरफ से बहुमत एनडीए को सौंप दिया है मगर हकीकत में अगर हम लोग देखे तो फिर यहाँ पर मामला कुछ और ही बैठते हुए नजर आ  रहा है और बहुत से लोगो को लग रहा है कि बिहार में तेजस्वी महाराष्ट्र जैसे समीकरण बिठाने की कोशिश में लगे हुए है ताकि वो किसी न किसी तरह से अपने सीएम बनने के सपने को पूरा कर ले.

मांझी और साहनी जैसे नेताओं को भेज रहे ऑफर, माधवी सिंह ने इस्तीफ़ा देकर की शुरुआत
अभी अन्दर के सूत्र बताते है कि तेजस्वी ने अन्दर ही अन्दर एनडीए के सहयोगियों और कई बाहर के जीते लोगो को जैसे जीतनराम मांझी और साहनी आदि को ऑफर भेजे है जिसमे मंत्री पद जैसी बाते कही गयी है. अब इनके साथ मिलकर के वो सरकार बनाना चाहते है और तो और अब तेजस्वी की अन्दर से जदयू तोड़ने की कोशिश की है ये भी पता चल गया है क्योंकि माधवी सिंह ने हाल ही में अपना इस्तीफा सौंपा है.

माधवी सिंह जेडीयू से विधानसभा की प्रत्याशी थी और उन्होंने ये कहते हुए जेडीयू से इस्तीफा दिया है कि वो तेजस्वी यादव के साथ में इन्साफ चाहती है. ये नीतीश कुमार के लिए बहुत ही गंभीर समय है जब उनके ही पार्टी की एक विधायक पद की प्रत्याशी प्रतिद्वंदी के सपोर्ट में उनकी पार्टी को छोड़ के जा रही है और इसे नीतीश के लिए काफी बड़े झटके के तौर पर देखा जा रहा है जो कि एक शुरुआत भर हो सकती है.

हालांकि ऐसा भी नही है कि बीजेपी और जेडीयू कुछ कर नही रही है. इन पार्टियों की भी लगातार मीडिंग आदि चल रही है और कोशिश की जा रही है कि एकजुटता बनी रहे और तेजस्वी हो या फिर राहुल हो कोई भी इनको तोड़ न सके, बाकी तो आने वाला समय बता ही देगा.