जेडीयू के इतनी सीट हारने के बाद नीतीश सीएम बनेंगे या फिर नही, बीजेपी ने दिया ये जवाब

93

इस बार के बिहार के चुनाव समाप्त हो चुके है और जिस तरफ जिसे जो भी जोर लगाना था और कार्य प्रणाली नियत थी वो भी बड़े ही अच्छे तरीके से पूर्ण हो चुकी है. अब बात आती है नीतीश कुमार की तो इस बार चाहे एनडीए गठबंधन जीत गया है लेकिन उनकी पार्टी जेडीयू का प्रदर्शन काफी खराब रहा है और अधिकतर सीटे वो हार चुके है जिस से पता चलता है कि नीतीश कुमार अपनी विश्वसनीयता खोते चले जा रहे है. ऐसे में कई बीजेपी स्टेट नेता कहने लगे थे कि अब भाजपा से ही सीएम हो.

पीएम मोदी ने संबोधन में किया साफ़, नीतीश ही रहेंगे मुख्यमंत्री
प्रधानमंत्री मोदी ने अपने हाल ही के संबोधन में साफ़ किया है कि बीजेपी का बिहार में नीतीश के नेतृत्व को इतनी कम सीटो के बाद भी सपोर्ट पूरी तरह से जारी रहेगा और इसमें किसी को भी शंका  रखने की जरूरत नही है. पीएम मोदी ने साफ़ शब्दों में कहा कि हम सभी बीजेपी के कार्यकर्ता एक बार फिर से नीतीश के नेतृत्व में संकल्प को सिद्ध करेंगे. हम सब मिलकर के बिहार के लिए काम करेंगे और इसे आगे बढ़ायेंगे.

जब पीएम मोदी ने बीजेपी का स्टैंड क्लीयर कर दिया कि चुनाव से पहले उन्होंने नीतीश कुमार को जो सीएम बनाने का वादा किया था उस पर वो टिकी हुई है तो नीतीश कुमार ने भी ट्वीट कर आभार जताया और कहा कि जनता ही मालिक है, जनता ने एनडीए गठबंधन को जो बहुमत दिया है उसके लिए हम उन्हें नमन करते है. प्रधानमंत्री मोदी के सहयोग सहयोग के लिए मैं उन्हें धन्यवाद करता हूँ.

कही न कही ये सत्य भी है कि अगर पीएम मोदी खुद सहयोग नही करते तो फिर नीतीश कुमार के लिए फिर से मुख्यमंत्री बन पाना अपने आप में एक सपना ही रह जाता और ये सवाल खड़े करता. ऐसे में तेजस्वी जोड़ तोड़कर के बाजी ले जाता लेकिन जहाँ बीजेपी का वजन आ जाता है वो पलड़ा भारी हो ही जाता है.