बिहार चुनाव के बाद बीजेपी के अन्दर से उठने लगी ऐसी आवाजे, बोले नीतीश नही इसे..

108

अब बिहार में चुनाव निपट चुके है और सब लोग कही न कही इस चुनाव को लेकर के बहुत से लोगो के मन में सवाल भी उठ रहे है कि आगे चलकर के अब क्या होगा? कही न कही जो चुनाव से पहले सोचा गया था अब उसके बिलकुल सब कुछ उलट ही हुआ है. अपने आपको बड़ा भाई कहने वाली जेडीयू ज्यादातर सीट्स हार गयी है और बीजेपी ने हरा तरफ परचम लहराकर के जीत हासिल की है. कही न कही अब बीजेपी बड़ी पार्टी हो गयी है और जेडीयू छोटी है.

कई स्टेट लेवल नेताओ के बदले सुर, कहने लगे हमारा बने मुख्यमंत्री
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार स्टेट लेवल के कई सारे नेता जिनमे कुछ मोर्चा प्रमुख भी है उन्होंने ये दलील रखी है कि अब हमारी सीट ज्यादा है तो मुख्यमंत्री भी हमारा ही होना चाहिए न कि अब नीतीश कुमार को होना चाहिए. ये दलील काफी लोगो को वाजिब लगती होगी लेकिन ये बात किसी को भी ठीक लग नही रही है क्योंकि बीजेपी चुनाव से पहले नीतीश कुमार को सीएम बनाने का वादा कर चुकी है.

ऐसे में अगर बीजेपी नीतीश कुमार को छोटा बनाकर के अपनी पार्टी का सीएम बनाने की सोच रखती है तो फिर कही न कही ये बीजेपी की राजनीतिक विश्वसनीयता के ऊपर सवाल खड़े कर देगा क्योंकि एक बार पार्टी मंच पर जाकर के बार बार नीतीश को लेकर के ऐलान कर चुकी है कि सीएम तो नीतीश कुमार ही बनेंगे और ऐसे में बहुत ही कम चांस है कि हाई कमान स्टेट के नेताओं की बात इस मामले में सुने.

हाँ इतना जरुर तय हो गया है कि अब बीजेपी को इस बात का यकीन है कि अब वो मुख्य पार्टी है और जेडीयू छोटी है तो ऐसी स्थिति में जीत उनकी ही हो सकती है अगले चुनाव में ही और अगली बार सीएम वो अपना रख सकते है लेकिन इस बार क्योंकि जबान दे चुके है तो ऐसे में पलटना मुश्किल है बाकी राजनीति है, कभी कुछ भी अप्रत्याशित हो सकता है.