वो आदमी जिसने इस चुनाव में नीतीश का सारा खेल बिगाड़ दिया, कर दिया भारी नुकसान

500

इस बार के चुनाव नतीजो में एनडीए गठबंधन ने काफी बेहतरीन परफॉर्म किया है और लगभग अब ये तय हो गया है कि बीजेपी गठबंधन की सरकार बनेगी और जैसा कि पहले तय हुआ था कि बीजेपी की सरकार बनेगी वैसा ही हो भी रहा है और ऐसा साफ़ तौर पर नजर भी आ रहा है. मगर अब आगे चलकर के कोई बड़ा हेरफेर हो जाये तो फिर इसमें कुछ कहा नही जा सकता है, पर इससे भी ज्यादा कुछ बदला है तो यहाँ पर बदला है नीतीश का जनाधार जिसे उन्होंने लगभग खो ही दिया लगता है.

बीजेपी बन गयी नम्बर वन पार्टी, चिराग पासवान ने जमकर काटे नीतीश के वोट
अभी के चुनाव के परिणामो में बीजेपी और जेडीयू ने जीत कर आने वाला परफॉर्म किया है लेकिन यहाँ पर जहाँ बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है वही जेडीयू लगातार गिर रही है. जेडीयू बड़ी ही मुश्किल से 45 के आस पास सीट जीत पा रही है वही बीजेपी ने 73 के आस पास सीटो पर कब्जा हासिल कर लिया है और ये अपने आप में ऐतिहासिक माना जा रहा है.

मगर सवाल ये है कि जेडीयू बीजेपी से इतना पीछे कैसे रह गयी तो इसका जवाब कई लोग कहते है ऐसा एलजेपी ने किया है जिसने कोई सीट तो ख़ास नही जीती है लेकिन उसने बिहार में 6 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया है और ये वो वोट है जो शायद जेडीयू के पाले में जाते अगर एलजेपी गठबंधन से अलग नही होती और नीतीश कुमार के खिलाफ इस तरह से चिराग पासवान केम्पेन नही करते. चिराग ने लगातार नीतीश पर निशाना साधा और जेडीयू के सामने अपने उम्मीदवार भी बड़ी ही भारी मात्रा में उतारे थे.

इससे वो चाहे जीते नही लेकिन जेडीयू के वोट भी कम होते चले गये और इसका परिणाम नजर आता है कि आज जेडीयू गठबंधन में छोटे भाई की भूमिका में जा चुकी है जहाँ पर नीतीश कुमार इतनी कम सीटो पर होते हुए भी अगर मुख्यमंत्री बनते है तो भी शायद वो थोड़ी शर्म महसूस करेंगे.