अर्नब को लेकर चिंता और गुस्से में महाराष्ट्र के राज्यपाल, राज्य के गृह मंत्री को फोन कर कहा..

405

जाने माने पत्रकार पिछले लगभग चार पांच दिनों से अपने दिन न्यायिक हिरासत में निकाल रहे है और उनको बाहर निकाल पाना मुश्किल हो रहा है क्योंकि कही न कही यहाँ पर सरकारी इन्वोल्वमेंट होने का आरोप कई लोग लगा रहे है और ऐसे में राज्य के सबसे बड़े अधिकारी यानी राज्यपाल ने भी इस पूरी घटना पर अपनी तरफ से न सिर्फ चिंता बल्कि भारी शक भी जाहिर किया है कि ये सब क्या हो रहा है और इस सम्बन्ध में उन्होंने सीधे महाराष्ट्र के गृह मंत्री से बात की है.

अर्नब के स्वास्थ्य और सुरक्षा को लेकर चिंता, आप उनके परिवार को उनसे मिलने दे अब इस पूरे घटनाक्रम में आखिरकार राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अपनी तरफ से दखल दिया है और अपनी तरफ से खुद ही महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के साथ में बात की है. राज्यपाल ने अपना गुस्सा और चिंता जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें अर्नब गोस्वामी की सुरक्षा और स्वास्थ्य को लेकर के शक है और तमाम तरह की बाते है जो उन्होंने साथ ही साथ में कही है.

इन सबके अलावा राज्यपाल ने देशमुख से अर्नब के परिवार को उनसे मिलने देने को कहा है. हालांकि ये कोई सख्त हिदायत नही है बल्कि सिर्फ कहा गया है ताकि राज्य सरकार राज्यपाल के कहे बातो को ध्यान में रखते हुए आगे का फैसला ले और ये बात कही न कही क़ानून सम्मत मानी भी जाती है लेकिन अब भी सवाल एक ही है कि क्या राज्यपाल के दखल से अर्नब को कुछ मदद मिल सकेगी?

हालांकि बीजेपी इस मामले में कोई कमी रख नही रही है. अमित शाह अर्नब के समर्थन में ट्वीट कर चुके है और किरीट सोमैया से लेकर राम कदम जैसे कई नेता है जो बीजेपी के है और अर्नब से जेल में जाकर के मिल रहे है और उनको कह रहे है कि जो भी हो सकता है वो किया जा रहा है क्योंकि बोलने की आजादी तो इस देश में है ही और उसे रोका नही जाना चाहिए.