पुलिस वैन में बंद अर्नब गोस्वामी ने कहा ‘सुप्रीम कोर्ट तक मेरी बात पहुँचाओ यहाँ मेरी…’

71

पत्रकार और इन दिनों चर्चा में चल रहे अर्नब गोस्वामी की हालत फ़िलहाल काफी ज्यादा मुसीबतों से भरी हुई नजर आ रही है और कही न कही जिस तरह से लोग आरोप लगा रहे है कि सरकार का इन्वोल्वमेंट है और इस कारण से ही वो जल्दी बाहर आ नही पा रहे है तो ऐसे में फिर किया ही क्या जा सकता है? सवाल अपने आप में जायज भी है क्योंकि अर्नब को चार दिन से जमानत नही मिल सकी है और ऐसे में अब उन्होंने पुलिस वैन में ले जाते वक्त अपना दुःख बयान कर दिया.

मेरी जान को है रिस्क, सुप्रीम कोर्ट से कहो मेरी मदद करे
अर्नब गोस्वामी का अब सारी दुनिया भर से कनेक्शन लगभग खत्म हो चुका है लेकिन ऐसे वक्त में भी अब अर्नब जब कोर्ट में पेशी के लिए लाये जाते है तो कनेक्शन साधने की कोशिश करते है और यहाँ पर उन्होंने काफी कुछ कहा भी है. उन्होंने साफ़ तौर पर कहा है कि यहाँ पर उनकी जान पर रिस्क है और सुप्रीम कोर्ट को जाकर के ये बात बताईये ताकि वो मेरी मदद करे.

अर्नब कहते है कि मुझे यहाँ पर घसीटा गया है. सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करे. अर्नब ने ये आरोप भी लगाया कि जेलर ने उनकी पिटाई तक की है और तो और मुझे मेरे वकील से भी नही मिलने दिया जा रहा है. आप मेरी हालत देखिये इन्होने मेरे साथ में क्या किया है. ये सारी बाते अर्नब जल्दी जल्दी में बोले है और बोलते बोलते उनको ले गये.

अर्नब गोस्वामी की हालत इन दिनों में दयनीय हो गयी है क्योंकि कोई भी नही जानता है कि अभी जब वो पुलिस के पास में है तो उनके साथ में क्या हो रहा है और किस  तरह का व्यवहार हो रहा है और जो बयान अर्नब दे रहे है वो तो काफी अधिक डिस्टर्ब कर देने वाले है.