अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी होने के बाद में संजय राउत का बड़ा बयान आया

699

आज की सुबह रिपब्लिक टीवी नेटवर्क के लिए बहुत ही ज्यादा तकलीफ से भरी हुई थी क्योंकि सुबह सुबह ही अर्नब गोस्वामी के घर पर मुंबई पुलिस ने दस्तक दी और उनको गिरफ्तार करके एक बहुत ही पुराने केस में ले गयी. अब अर्नब की शिवसेना से जो कहासुनी चलती है उससे कौन वाकिफ नही है? और इस कारण से ही कई सारे लोग है और नेता आदि है जो सीधे तौर पर इसमें शिवसेना सरकार का हाथ मान रहे है और इसे लोकतंत्र के खिलाफ बता रहे है. इस पर पहली बार किसी शिवसेना नेता ने प्रतिक्रिया दी है.

जो भी क़ानून का उल्लंघन करेगा, पुलिस उस पर कार्यवाही करेगी
संजय राउत ने इस पूरी घटना के बाद में अपनी तरफ से बयान दिया है और ऐसा दिखाने की कोशिश की है जैसे ये कोई सामान्य प्रक्रिया है. राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में क़ानून का राज है और यहाँ पर बदले की भावना से कोई भी कार्यवाही नही की जाती है. जो कोई भी क़ानून का उल्लंघन करता है उसके खिलाफ पुलिस कार्यवाही करेगी. राउत ने इसके बाद में भी इसे समाप्त नही किया है.

वो आगे कहते है कि पुलिस को जरुर कोई न कोई जांच में सबूत मिला होगा जिसके बाद में उन्होंने कार्यवाही की है. संजय राउत यहाँ पर ये मानने को ही तैयार नही है कि ये सब उनकी सरकार के द्वारा करवाया गया है जैसा कि बीजेपी और अन्य पार्टियां आरोप लगा रही है. सर्वानंद सोनूवाल, अमित शाह से लेकर रविशंकर प्रसाद तक देश के कई बड़े बड़े दिग्गज नेताओं ने इसे लोकतंत्र के खिलाफ बताते हुए तुरंत अर्नब की रिहाई करने की बात कही है.

इससे शिवसेना कही न कही बैकफुट पर आते हुए नजर आ रही है और वो अपना बचाव करने की कोशिश कर रही है. ऐसे में ये तो जाहिर सी बात है कि अर्नब गोस्वामी को काफी ज्यादा रिस्क है और वो आगे चलकर के इससे कैसे निपटते है ये तो वो ही जानते है.