अर्नब को सलाखों के पीछे पहुंचाने वाली ये दो औरते आयी सामने, अब लगाया ये गंभीर आरोप

453

आज सुबह से ही ये मामला चल रहा है कि अर्नब गोस्वामी को पुलिस ने किसी केस के चलते हुए पकड़ा है और मामला काफी पुराना है जो कि पहले ही बंद हो गया था और क्लोजर रिपोर्ट दाखिल हो गयी थी. कई तरह की बाते इस केस में कही गयी लेकिन किसी को भी इस केस के बारे में ठीक से जानकारी नही है कि आखिर दो साल पहले ऐसा क्या हुआ था? तो दरअसल एक अन्वय नाम के व्यक्ति ने अपनी जान दी थी तो उसने पत्र में अर्नब का नाम लिखा था.

अन्वय की पत्नी और बेटी आयी सामने, लगाये अर्नब पर कई आरोप
इस पूरी घटना के पीछे ये दोनों ही महिलाएं है जिनमे से एक अन्वय की पत्नी है और एक अन्वय की बेटी है. इन दोनों के द्वारा किये गये प्रयासों के चलते हुए ही अर्नब को अन्दर किया गया है. अन्वय की पत्नी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं साल 2018 को कभी भी नही भूलूंगी. मेरे पति ने उस वक्त नोट में तीन लोगो का नाम लिखा था लेकिन उनके खिलाफ कोई भी कार्यवाही नही की गयी थी. मेरे पति के साथ जो हुआ उसके पीछे अर्नब गोस्वामी है. महाराष्ट्र पुलिस की कार्यवाही हमारे लिए न्याय है.

वही दूसरी तरफ अन्वय की बेटी ने कहा कि अर्नब ने मेरे पिता से कहा था कि वो मेरे पिता जी का करियर खराब कर देगा. उसने मेरे पिता के क्लाइंट्स से उनको काम न देने के लिए कहा था और उनको काफी परेशान किया था. बताया जाता है कि दो वर्ष पहले रिपब्लिक के एक बकाया का भुगतान न होने के कारण उसने ये कदम उठाया था और खुदको खत्म कर लिया.

मगर सवाल ये है कि इस केस में क्लोजर रिपोर्ट तक दाखिल हो गयी थी और दो साल तक अन्वय  की पत्नी और उनकी बेटी ने इतना समय क्यों लगाया इस मामले को सामने लाने में? सवाल करने वाले तो करेंगे और उम्मीद है जल्द ही जवाब भी आएगा.