अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर गुस्से में अमित शाह, दी महाराष्ट्र सरकार को ये चेतावनी

1262

आज सुबह सुबह अर्नब गोस्वामी के घर पर जो नजारा देखने को मिला है वो अपने आप में बहुत ही अधिक चौंकाने वाला था. अचानक से ये खबर आयी कि अर्नब गोस्वामी को एक पुराने केस के लिए अपने घर से उठा लिया गया है और एक मामूली आदमी की तरह उठाकर वेन में डालकर के उसे ले गये. इसके बाद से रिपब्लिक मीडिया ने इसकी लाइव कवरेज दिखानी शुरू कर दी कि अर्नब को परेशान करने के लिए ये सब कुछ हो रहा है और इन सबके बीच में अब देश के गृह मंत्री इस मामले में बीच में आ गये है.

स्टेट ने अपने पॉवर का दुरूपयोग किया है, इसका विरोध हो और हम जरुर करेंगे
अमित शाह ने आधिकारिक तौर पर अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से एक बयान जारी किया है. इस बयान में वो कहते है कि कांग्रेस और इसके साथियो ने एक बार फिर से लोकतंत्र को शर्मिंदा किया है. राज्य की शक्ति का यूँ अंधा उपयोग करके लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मीडिया और अर्नब गोस्वामी और रिपब्लिक की आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है. ये हमें आपातकाल की याद दिला देता है.

आजाद प्रेस के ऊपर हुए इस अटैक का प्रतिरोध जरुर हो और किया जायेगा. गृह मंत्री अमित शाह जब कहते है कि हम इसका विरोध करेंगे तो जाहिर तौर पर उनके कहने के मायने बड़े होते है और क्योंकि पुलिस एक तरह से गृह मंत्रालय के ही अंडर में अंत में आती है तो फिर क्या शाह इस मामले में कुछ करते है और इसे देखकर के कुछ अभी तो कह नही सकते है लेकिन बीजेपी यहाँ पर काफी अधिक गुस्से में नजर आ रही है.

संबित पात्रा ने रिपब्लिक पर आकर के इसे फ्रीडम ऑफ प्रेस के खिलाफ बताया है वही हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने भी इस घटना को शर्म से भरा हुआ माना है. अब इस पर महराष्ट्र सरकार क्या कहती है ये देखने वाली बात होगी.