मोदी ने किया था फ्रांस के राष्ट्रपति का समर्थन, अब उद्धव ठाकरे ने बोली ऐसी बात

291

अभी फ़िलहाल सारी दुनिया दो हिस्सों में बंटती हुई नजर आ रही है जहाँ पर एक तरफ तो वो लोग है जो फ्रांस की आलोचना कर रहे है और कह रहे है कि उसने जो कुछ भी किया है वो गलत है और हम उसका समर्थन नही करते है जबकि दूसरी तरफ वो लोग भी है जो खुलकर उसका समर्थन कर रहे है और अब महाराष्ट्र में सत्ता में आयी हुई पार्टी शिवसेना ने भी खुलकर के अपने सामना मुखपत्र के माध्यम से फ्रांस और उसके राष्ट्रपति के द्वारा किये जा रहे कार्यो का समर्थन किया है.

मोदी सरकार ने फ्रांस का समर्थन कर किया उचित, वो भी करते है भारत का सपोर्ट
शिवसेना ने हाल ही में अपने मुखपत्र में फ्रांस का जमकर के समर्थन किया है. पत्रिका में शिवसेना की तरफ से कहा गया कि आज इमेनुअल मेक्रोन की भूमिका को विवादित बताया जा रहा है, फ्रांस हर तरह की आजादी मानने वाला देश है. जब भी भारत पर मुसीबत आयी है तब फ्रांस ने भारत का खुलकर के सपोर्ट किया है. पोखरण परीक्षण के समय अमेरिका समेत कई देशो ने भारत का विरोध किया लेकिन उस वक्त भी फ्रांस भारत के साथ में खड़ा हुआ था.

फ्रांस के राष्ट्रपति ने आतक के खिलाफ लड़ाई का ऐलान किया है और भारत सरकार भी इसका समर्थन कर रही है, ये बिलकुल उचित फैसला है. शिवसेना अब ऐसे वक्त में फ्रांस का समर्थन कर रही है जब देश के ही अन्दर कई सारे मुस्लिम लोग जो उनके साथी दलों के वोटर है वो उनके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे है और ऐसे में क्या शिवसेना को उनसे और साथी दलों से विरोध नही झेलना पड़ेगा?  ये सवाल तो फ़िलहाल एक सवाल ही है.

खैर जो भी है अभी के लिए तो फ्रांस को कई लोकतांत्रिक देश जो लोगो के विचारों में खुलेपन और आजादी में यकीन करते है वो समर्थन दे रहे है और उनको इस पर कोई भी समस्या नही है कि फ्रांस की सरकार क्या फैसले कर रही है क्योंकि वो लोकतान्त्रिक तरीके से चुनी हुई है.