क्या बीजेपी के साथ गठबंधन करेगी मायावती, दे दिया जवाब

217

अभी उत्तर प्रदेश में हाल ही में जो कुछ भी बदलाव देखते को मिले है उसके बाद में कही न कही लोगो ने ये कयास लगाने शुरू किये थे कि संभावित तौर पर भाजपा और बसपा साथ में आ सकती है क्योंकि मायावती ने एक बयान दिया था कि अगर समाजवादी पार्टी को हराने के लिए बीजेपी को वोट करना पड़ा तो हम वो भी कर देंगे. यही नही बीजेपी भी राज्यसभा के लिए बसपा हेतु के एक सीट छोड़ सकती है ताकि दोस्ती बढ़ाई जा सके ऐसी खबरे बाहर आने लगी. इन सब बातो के बीच में अब मायावती की तरफ से स्पष्टीकरण आया है.

राजनीति से संन्यास ले लेंगे, मगर बीजेपी से गठबंधन मंजूर नही
मायावती ने अपने हाल ही के बयान में साफ़ किया है कि भाजपा के साथ में गठबंधन करें का उनका कोई इरादा नही है. मायावती कहती है कि बीजेपी के साथ में उनकी विचारधारा बिलकुल ही मेल नही खाती है, दोनों ही एकदम विपरीत सोच के है इसलिए हमारा गठबंधन ही हो ही नही सकता. हम राजनीति से संन्यास ले सकते है लेकिन बीजेपी के साथ में कभी भी गठबंधन नही करेंगे.

अगर आज बीजेपी उत्तर प्रदेश में मजबूत हुई है तो सिर्फ समाजवादी पार्टी के कारण हुई है. जब ये सत्ता में थे तब बीजेपी मजबूत हुई और आज ये स्थिति है. हमारे पास में कई फोन आये और शुरू से ही आते रहे है लेकिन बसपा ने कभी भी अपने सिद्धांतो से समझौता नही किया है. हमें दलितों और मुस्लिमो से दूर करने की साजिशे हुई है लेकिन इनको हम कभी भी कामयाब नही होने देंगे.

यानी अभी की स्थिति को देखे तो बसपा की कोई दिलचस्पी बीजेपी के साथ आने में नही है और बीजेपी भी इतना कोई ख़ास  इंटरेस्ट रखती नही है क्योंकि योगी आदित्यनाथ जैसा दमदार नेता यूपी को पहली बार बीजेपी की तरफ से मिला है और उनके होते हुए बीजेपी को अभी किसी और के सपोर्ट की जरूरत महसूस हो नही रही है.