मायावती आयी बीजेपी के साथ, इस बड़े बयान के साथ में किया ऐतिहासिक ऐलान

309

उत्तर प्रदेश की राजनीति में हाल ही में काफी बड़े लेवल के बदलाव देखने को मिल रहे है और ऐसी ऐसी चीजे हो रही है जिनकी कल्पना किसी ने भी नही की थी. खैर जो भी है अगर हमें कुछ देखना ही है तो हम मायावती के रूख को देख सकते है जो इन दिनों काफी तेजी के साथ में बदल रहा है और हाल ही में जो उनका बयान आया है उसने पूरे उत्तर प्रदेश की राजनीति में उथल पुथल मचाकर के रख दी है. आखिर ऐसा क्या हुआ है? चलिए हम आपको बताते है.

सपा से हाथ मिलाना था हमारी भूल, इनको रोकने के लिए हम बीजेपी को भी वोट करेंगे
मायावती ने अभी हाल ही में बयान जारी करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी से चुनावों में हाथ मिलाना हमारी सबसे बड़ी गलती थी, इनके  खिलाफ जो गेस्ट हाउस वाला मुकदमा था वो भी वापिस नही लेना चाहिए था.  दरअसल हाल ही में समाजवादी पार्टी के पाले में मायावती के पांच से छः विधायक जा मिले है ताकि सपा राज्यसभा चुनाव जीत सके और इससे मायावती नाराज होकर बीजेपी का सपोर्ट खोज रही है.

अपने हाल ही के बयान में मायावती ने ये तक कह दिया है कि अगर समाजवादी पार्टी को बाहर करने के लिए उनको हराने के लिए हमें किसी को भी बीजेपी को भी वोट करना पड़ा तो हम वोट करेंगे और उनको सपोर्ट करेंगे. पहले बीजेपी ने बसपा के लिए एक सीट छोडकर के अपनी दोस्ती का सबूत पेश किया और अब बसपा ने इतना बड़ा बयान जारी करके कही न कही रजामंदी दे दी है तो अगर कल को बसपा बीजेपी एक साथ नजर आये तो इसमें कोई बड़ी बात नही होगी.

बसपा के ही एक विधायक ने मायावती पर आरोप लगाया है कि ये लोग बीजेपी के साथ में मिल गये है. ऐसे में बीजेपी नेता सतीश मिश्रा ने बसपा की बात पर जोर देते हुए कहा कि सपा वालो का  काम ही खरीद फरोख्त करने का है.