फ्रांस के समर्थन में खुलकर आयी मोदी सरकार, कह दी इतनी बड़ी बात

324

आपको मालूम होगा कि इन दिनों फ्रांस काफी दिक्कत से होकर के गुजर रहा है. पहले उनके एक शिक्षक के साथ में बीच सड़क पर जो हुआ और उसके बाद में उन्होंने इस तरह की चीजो को काबू करने के लिए क़ानून लाने की बात की तो दुनिया के कई देश जैसे तुर्की और पाक समेत मिडल ईस्ट के भी कई देश फ्रांस का विरोध करने लगे और फ्रांस के राष्ट्रपति पर निजी और गलत टिप्पणी करने लगे जिस पर भारत सरकार सामने आयी है और फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ में खड़ी नजर आयी है.

फ्रांस के राष्ट्रपति के ऊपर निजी बाते बोलना गलत, भारत सरकार ने लिखा खुला पत्र
भारत सरकार के विदेश मंत्रालय की तरफ से एक पत्र लिखा गया है जिसमे वो कहते है कि फ्रांस के राष्ट्रपति के लिए जो भी गलत भाषा का प्रयोग किया जा रहा है और उन पर जो निजी तौर पर अटैक किया जा रहा है उसकी हम घोर आलोचना करते है. हम फ्रांस में उस टीचर के साथ में जो भी हुआ है उसकी भी निंदा करते है, ये सब गलत हो रहा है. उसके परिवार के लोगो और फ्रांस के लोगो के लिए हमारी तरफ से संवेदनाए है.

जो भी आतक है उसके लिए भी औचित्य दिया जाए लेकिन वो सही नही माना जाएगा. भारत और फ्रांस के रिश्ते पिछले कुछ वक्त में काफी अधिक मजबूत हुए है और ख़ास तौर पर जब से राफेल डील हुई है उसके बाद से तो ये और भी अधिक मजबूत हो गये है जिसके चलते भारत खुलकर के फ्रांस के समर्थन मे आ गया है. ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत सरकार ने इस तरह से ओपन स्टैंड किसी देश के पक्ष में इस तरह से लिया हो. अब तक हम बैलेंस बनाने की कोशिश में रहते थे.

फ्रांस के राजदूत ने भी इस पत्र के प्रति अपनी तरफ से ख़ुशी जाहिर की है और इस समर्थन के लिए भारत के विदेश मंत्रालय का आभार जताया है. जो जाहिर तौर पर होना ही था.