अखिलेश लेंगे मायावती से पुराना बदला, दे सकते है बसपा को बड़ा वाला झटका

148

अभी इन दिनों में हम लोगो ने देखा है कि उत्तर प्रदेश की राजनीति कही न कही भाजपा केन्द्रित हो गयी है और कोई भी दल उसके आस पास नही टिक रहा है. मगर याद हो तो चुनाव के वक्त में बसपा और सपा दोनों ने ही मिलकर के कोशिश की थी कि बीजेपी को खदेड़ा जाए. मायावती को सपा ने खूब सम्मान दिया लेकिन जब हार हुई तो न सिर्फ मायावती ने सपा वालो पर ही सब कुछ मढ दिया बल्कि साथ ही साथ उनसे गठबंधन तोड़कर के एक प्रेस कांफ्रेस भी की और काफी बुरा भला भी कहा गया.

बसपा के 5 विधायक राज्यसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव से मिलने पहुँच, बगावत के संकेत
अभी हाल ही में यूपी में राज्यसभा चुनाव से पहले बड़ा उलटफेर होते हुए दिख रहा है और ये कोई सामान्य बात बिलकुल भी नही है. अभी की जानकारी के अनुसार बसपा के कुल पांच से छः विधायक अखिलेश यादव से मिलने के लिए पहुंचे थे जहाँ पर उन्होंने समाजवादी पार्टी के साथ में मीटिंग की और ये सब कुछ खबरों के मुताबिक़ मायावती की जानकारी के बिना हुआ है कि उनके विधायक जाकर विरोधियो से मिल रहे है.

ऐसे में ये साफ़ तौर पर बगावत के संकेत नजर आ रहे है और ऐसा इसलिए भी हो रहा है क्योंकि कही न कही सपा इस बार अपने कम से कम दो लोगो को राज्यसभा में भेजना चाह रही है और अगर बसपा के छः विधायक उनको समर्थन दे देते है और उनके पक्ष में वोट करते है तो फिर ये संभव हो जाएगा. यानी अखिलेश अपने लोगो को राज्यसभा भी पहुंचा देंगे और चुनाव के टाइम का बदला भी पूरा कर लेंगे.

ये ख्याली पुलाव है तो अच्छा लेकिन सपा अब इसमें कितना कामयाब हो पाती है ये भी तो देखने वाली ही बात होगी क्योंकि समाजवादी पार्टी की इस हरकत की खबर अब बसपा को भी पड गयी है और वो अपने विधायको को सुरक्षित करने की कोशिश करेगी.