अब फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती ने मिलाया हाथ, मकसद है देश के खिलाफ

46

कश्मीर में इन दिनों में एक नए किस्म की राजनीती में जन्म लिया है क्योंकि आपस में लड़ने वाली तो इनकी खत्म हो ही चुकी है और अब इनको वहाँ पर कुछ भी हासिल हो नही रहा है तो जाहिर तौर पर कुछ नया तो करना ही होगा और ऐसा ही कुछ नया करने की फिराक में ये नजर भी आ रहे है और कही न कही ये बड़े स्तर पर हो रहा है. आपको शायद इसकी जानकारी न हो लेकीन हिरासत से छूटने के बाद में इन दोनों ने एक अलायन्स बना लिया है.

महबूबा और फारूक अब्दुल्ला ने मिलाया हाथ, फिर से 370 की बहाली है मकसद
जिन्दगी भर एक दुसरे के खिलाड़ लड़ने वाले महबूबा मुफ़्ती और फारूक अब्दुल्ला ने साथ में मिलकर के एक अलायन्स बना लिया है और उसका नाम रखा गया है ‘पीपल्स अलायन्स फॉर गुपकर घोषणा’. इसका अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को ही चुना गया है और महबूबा के साथ में उनके लोग और आदि कई सारे कश्मीरी भी उनके सपोर्ट में आ गये है.

इन लोगो को अभी एक ही मकसद है और वो मकसद ये है कि जो कश्मीर में पहले की स्थिति थी जो भी विशेष दर्जा मिला हुआ था उसे फिर से बहाल करना है. जो 370 हटा ली गयी है उसे फिर से लाया जाए और पहली जैसी स्थिति बनाई जाए. उनका कहना है कि हमने जो ये मोर्चा बनाया है वो बीजेपी के खिलाफ है न कि देश के खिलाफ है, हम लोगो के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है गलत खबरे फैलाई जा रही है.

अब जिस तरह की बाते हो रही है उससे इतना तो साफ़ है कि अब ये नेता लोग आपस में मिलकर के लड़ना चाह रहे है क्योंकि इनका सब कुछ खत्म हो गया है और राजनीति करने के लिए भी कुछ भी बच नही रहा है तो ऐसे में किया ही क्या जाए? खैर जो भी अभी आगे क्या होता है ये तो देखने वाली ही बात होगी.