तेजस्वी बोले ‘सीएम बनते ही तुरंत 10 लाख नौकरी दूंगा’, पीएम मोदी ने दिया करारा जवाब

354

जब से चुनावी बिगुल बजा है उसके बाद से ही बिहार में लोग अपने अपने तरीके से मन बना रहे है कि किसे वोट देना है और किसे सत्ता से दूर रखना है. हर कोई नेता आदि अपने अपने तरीके से वोट आदि की अपील कर रहा है और कोशिश कर रहा है कि जीत उसी की उसकी पार्टी की हो जाए और ये चीज कही न कही जरूरी भी है इस बात में कोई भी संशय नही है. अब राजद ऐसे वादों के मामले में काफी आगे निकल गयी है.

तेजस्वी ने कहा सीएम बनते ही 10 लाख नौकरी, पीएम बोले ये रिश्वत कमाने का जरिया
अपनी चुनावी सभाओं में तेजस्वी यादव दावा कर रहे है कि अगर राजद जीत जाती है तो फिर वो पहला साइन ऐसा करेंगे जिससे बिहार के 10 लाख लोगो को नौकरी मिल जाएगा. इसी पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी चुनावी सभा में कहा कि ये सिर्फ और सिर्फ इनका रिश्वत कमाने का जरिया है. यानी जॉब देने के बदले ये लोग रिश्वतखोरी का व्यापार करेंगे. हम तो चाहते है बिहार में विकास हो, निवेश हो. ये कौन करेगा वो जिन्होंने सुशासन दिया है या फिर वो जिन्होंने जंगलराज दिया?

हम लोगो ने धारा 370 को हटाया है हम देश के लिए काम कर रहे है जबकि ये लोग उसे हटाने की बदलने की बात करते है. ये लोग कहते है सत्ता में आये तो इस फैसले को बदल देंगे. इन लोगो का आप लोगो की जरुरतो से कोई सरोकार ही नही रहा है. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण के दौरान चुन चुनकर के सभी विपक्ष के लोगो को खूब ज्यादा टार्गेट किया और वाकई में अब सामने वालो के पास बोलने को मानो कुछ बच ही नही रहा है.

अब प्रधानमंत्री मोदी और योगी आदित्यनाथ जैसे दिग्गज लोगो के भाषण और चुनावी सभाएं किस हद तक कामयाब हो पाती है और क्या वाकई में वो बड़े स्तर पर वोटो को अपने झोली में ले पाते है या फिर मुसीबते दस्तक दे देती है? काफी कुछ है जो भविष्य के गर्त में ही छुपा हुआ है.