नीतीश कुमार का चुनाव से पहले मास्टरस्ट्रोक, आरजेडी को लगा झटका

283

अभी बिहार में चुनाव सर पर आ गये है और कही न कही इनकी गूँज हर तरफ लोगो को सुनाई देने लग गयी है. जिस तरह से चीजे चल रही है और बड़े स्तर पर बदलाव हो रहे है कही न कही वो ये बताते है कि चीजे बहुत ही ज्यादा बदल गयी है और ऐसे वक्त में हम इस बात की तरफ देख रहे है कि नीतीश एक के बाद एक बड़े दांव खेल रहे है. पहले तो एलजेपी को एनडीए गठबंधन से  ही बाहर कर दिया और अब राजद को तोड़ रहे है.

रघुवंश प्रसाद सिंह के बेटे सत्यप्रकाश सिंह ने ज्वाइन की बीजेपी, राजद को जमकर कोसा
आपको मालूम होगा कि रघुवंश प्रसाद कितने बड़े नेता रह चुके है. बिहार में उनकी तुलना लालू यादव और नीतीश कुमार जैसे दिग्गजों के साथ में की जाती रही है. अब हाल ही में उनका देहांत हो गया था. इसके बाद में पिता की लीक पर चलते हुए वैसे तो उनके बेटे को राजद में होना था लेकिन नीतीश ने उन्हें अपनी तरफ कर लिया है और अब रघुवंश प्रसाद के बेटे सत्य प्रकाश सिंह जेडीयू में शामिल हो गये है.

जब वो जेडीयू में ज्वाइन हुए तो उन्होंने बयान देते हुए कहा कि मेरा राजनीति में आने का कोई प्लान नही था लेकिन पिता जी के यूँ अचानक से चले जाने के बाद में मुझे ये फैसला करना पड़ा. आगे वो कहते है कि वो अपने पिता के ही अधूरे काम पूरे करने के लिए आये है. उनकी लगातार पार्टी में उपेक्षा हो रही थी गरीबो को सवर्ण आरक्षण देने की बात राजद ने की थी लेकिन बाद में इसे उनको बिना बताये ही हटा दिया गया.

हम इसे नीतीश का मास्टरस्ट्रोक इसलिए कह रहे है क्योंकि रघुवंश प्रसाद वो नेता है जिनका सवर्ण वोट बैंक बहुत ही बड़ा था. अगर उनके बेटे जेडीयू में आते है तो उनके पीछे पीछे एक अच्छा खासा वोट अपने आप ही जेडीयू के पाले में आ जाता है जो शायद अगर वो राजद में जाते तो उधर जा सकता था.