नीतीश कुमार ने पीएम मोदी को दिया धोखा, गठबंधन से अलग होने के बाद चिराग पासवान का बड़ा दावा

318

बिहार चुनाव में पहले एनडीए गठबंधन में तीन बड़ी पार्टियां थी एक बीजेपी, दूसरी जेडीयू और तीसरी एलजेपी. बीते कुछ दिनों में एलजेपी और जेडीयू के बीच में काफी अनबन देखी गयी जिसके बाद में सीट बंटवारे को लेकर भी एकमत नही बन पाया और अब एलजेपी को लेकर चिराग पासवान बिहार में गठबंधन से अलग हो गये है. अब जब वो अलग हो गये है तो फिर जाहिर तौर पर बयानबाजी भी होगी ही होगी और चिराग पासवान ने ये काम बड़े स्तर पर शुरू भी कर दिया है और उनके निशाने पर मुख्य रूप से नीतीश कुमार है.

चिराग बोले, पीएम मोदी मेरे रोल मॉडल जिन्हें नीतीश कुमार ने धोखा दिया
अपने हाल ही के बयान में चिराग पासवान कहते है कि मैं राजनीति में हूँ और एक अलग बिहार का सपना मेरा भी है. नीतीश कुमार से मेरा कोई निजी अलगाव भी नही है जो कि एनडीए का चेहरा है. एनडीए से अलग होकर के अलग जाकर के चुनाव लड़ने के पीछे मेरा कारण बस इतना था कि इस राज्य को डबल इंजन की सरकार चाहिए जिसमे कोई बीजेपी का नेता राज्य की सरकार संभाले और पीएम मोदी के विजन के साथ में कदम से कदम मिलाकर के चल सके.

इनका काम और इनका सात निश्चय भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है. आप हमारे प्रधानमंत्री के काम करने के तरीके को ही देखिये और उनकी गवर्नेंस को देखिये वह गवर्नेंस को लेकर के मेरे रोल मॉडल है और इसी वजह से हम 2014 से एनडीए में है. नीतीश कुमार की तरह नही है जो बीच में बाहर चले गये और उनको चुनौती दी. ये अलग बात है कि लोगो ने उनको सबक सिखाया और वापिस उनको पीएम के पास  आकर के ही शरण लेनी पड़ी.

यहाँ पर वो साफ़ तौर पर बताते है कि नीतीश कुमार ने काम के नाम पर बीजेपी के साथ में धोखा किया है और वो चाहते ही कि बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार बिहार में बने न कि जेडीयू वाली. हालांकि सीट के बंटवारे पर वो कुछ भी बोलने से बचते है.