बड़ी खबर: शिवसेना के बाद एक और पार्टी ने भी बीजेपी से तोड़ा गठबंधन

196

बीजेपी ने बीते वक्त में कई बड़े बड़े गठबंधन किये थे लेकिन इन सालो में कुछ एक पार्टियां जिनके विचार भाजपा से नही मिलते है वो धीरे धीरे करके पार्टी से छिटक रहे है. अभी बीते वक्त पहले की ही बात है जब भारतीय जनता पार्टी का साथ शिवसेना ने छोड़ दिया था और इसके पीछे का कारण जाहिर तौर पर उद्धव ठाकरे की अपनी कुर्सी हासिल करने की महत्त्वकांक्षा थी. हालांकि बीजेपी को इससे उतना कोई बड़ा फर्क नही पड़ा क्योंकि बीजेपी केंद्र में तो सत्ता में फिर भी बनी ही रही.

अब अकाली दल ने छोड़ा एनडीए, कृषि विधेयक पर हुए मतभेद
एनडीए से शिवसेना के बाद में एक और पार्टी ने अपना नाता तोड़ लिया है और इस बार नाता तोड़ने वाली पार्टी का नाम है शिरोमणि अकाली दल. दोनों ही पार्टियों ने एक दुसरे का दामन आज से 22 साल पहले थामा था और ये बीजेपी के सबसे पुराने साथियो में से एक गिना जाने वाला दल था जो पंजाब में भाजपा को थोडा बहुत सहयोग भी दे देता था लेकिन इन दिनों में बीजेपी और अकाली दल के बीच में कुछ बात को लेकर के दूरियां आ गयी थी.

बीजेपी ने कृषि को लेकर के कुछ एक विधेयक पारित किये जिस पर अकाली दल ने अपनी तरफ से मतभेद जताए और इसके बाद में हरसिमरत कौर ने मोदी केबिनेट से इस्तीफा दे दिया जिसके बाद में साफ़ होने लग गया था कि कुछ अनहोनी होने जा रही है और ये करने के लगभग एक हफ्ते के बाद में अकाली दल ने एक प्रेस कांफ्रेस की और ऐलान किया कि वो बीजेपी और एनडीए से अपना नाता तोड़ रहे है और अब अलग हो रहे है.

यानी अब बीजेपी को आगे के चुनाव अकाली दल के बिना ही लड़ने है और ये अपने आप में काफी बड़ी बात तो नही है क्योंकि बीजेपी का अपना बेस पंजाब में काफी ज्यादा मजबूत है लेकिन फिर भी एक साथी न होना खलता रहेगा.