बड़ी खबर: टीएमसी और आम आदमी पार्टी के सांसद सदन से सस्पेंड

206

राज्यसभा के सभापति वेंकेया नायडू की तरफ से अभी हाल ही में एक बहुत ही बड़ा एक्शन लिया गया है और इस एक्शन के पीछे भी बहुत ही बड़ा कारण है जो कही न कही बहुत ही लोगो को चुभ भी रहा है. दरअसल अभी हाल ही में राज्य सभा में बहुत ही बुरे तरीके की लड़ाई और अनुशासनहीना देखने को मिली जिसमे मौजूद सभापति पर हमला तक करने की कोशिश हुई जिसके खिलाफ नायडू जी ने एक्शन लेने का फैसला किया है और ये दो पार्टियों पर काफी बड़े स्तर पर होने जा रहा है.

पूरे सत्र के लिए 8 सांसद निलंबित, अनुशासनहीनता के खिलाफ कार्यवाही
दरअसल जब सदन में कृषि बिल लाया गया था तब टीएमसी, आप और अन्य छोटे मोटे दलों के सांसदों ने राज्यसभा में आकर के खूब शोर किया और मौजूद पीठासीन सभापति के ऊपर पन्ने आदि भी फेंके जिस पर बीजेपी के सांसदों ने उनके खिलाफ कार्यवाही के लिए चिट्ठी लिखी और बाकायदा वेंकेया नायडू जी ने इनके खिलाफ कार्यवाही की भी है. फ़िलहाल कुल 8 सांसद है जिनको निलंबित कर दिया गया है और ये सांसद टीएमसी, आम आदमी पार्टी और अन्य बाकी पार्टियों से आते है.

इसमें डेरेक ओ ब्रायन और संजय सिंह समेत राजीव साटव जैसे बड़े बड़े नाम है जिनको सदन से बहार चले जाने के लिए कहा गया है और अब इनको अन्दर आने की अनुमति नही दी जायेगी. ये निलंबन इनका पहली बार है इसलिए सिर्फ 7 दिन के लिए किया जा रहा है, अगर ये लोग फिर से ऐसा ही कुछ करने की कोशिश करते है तो फिर इनके खिलाफ और भी बड़ी कार्यवाही की जा सकती है. इस कार्यवाही के बाद में सदन के लोग चुप हो गये है क्योंकि उनको भी अब निलंबित हो जाने का डर सता रहा है.

ये पूरा मामला कृषि बिल को लेकर के था जिसे लेकर के बीजेपी काफी उम्मीदों से भरी हुई है जबकि विपक्षी पार्टियाँ इसका सदन के अन्दर और बाहर हर तरफ विरोध कर रही है.