उद्धव ठाकरे सरकार ने लिया अब अर्नब गोस्वामी के खिलाफ बड़ा एक्शन

348

पिछले कुछ वक्त में महाराष्ट्र की राजनीति में बहुत ही भारी स्तर पर अस्थिरता देखने को मिली है जहाँ पर कही न कही क़ानून व्यवस्था पर भी सवाल उठे जब कंगना रनौत को यूँ बीच में मुंबई छोड़कर के जाना पड़ा और अब इन सबके बीच में खबरे काफी फैली और कही न कही अब ये द्वन्द शिवसेना और रिपब्लिक के बीच में छिड़ा हुआ नजर आ रहा है. इसी बीच में एक बहुत ही बड़ा डेवलपमेंट हुआ है जो अपने आप में हैरान कर देने वाला है और परेशान भी कर रहा है.

अर्नब के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पास, विशेषाधिकार हनन का नोटिस
अर्नब गोस्वामी के खिलाफ महाराष्ट्र की विधानसभा में एक प्रस्ताव पारित किया गया है जिसमे उनके द्वारा की जा रही पत्रकारिता पर सवाल उठाये गये है. बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है, अर्नब को पूरे 60 पन्नो का एक नोटिस भेजा गया है जिसमें अर्नब से उसके द्वारा की जा रही रिपोर्टिंग को लेकर के सवाल उठाये गये है और कार्यवाही को लेकर के भी बाते कही गयी है जो अपने आप में गोस्वामी को दबाने जैसी बात हो गयी है.

ऐसे में आगे क्या होता है और क्या अर्नब पर कंगना की ही तरह कोई ऐसा एक्शन लिया जाता है जिससे उनके बिजनेस को नुकसान होगा ये तो आने वाला वक्त ही बता सकता है मगर अभी के लिए ये तय है कि अर्नब के खिलाफ पूरे महाराष्ट्र की विधानसभा ने मिलकर के एक प्रस्ताव पास कर दिया है जो उनको बहुत ही अधिक दिक्कत दे सकता है. हालांकि अर्नब का इस पर यही कहना है कि वो इसके बावजूद अपनी रिपोर्टिंग के काम को जारी रखेंगे और जैसे कर रहे है वैसे ही काम करते रहेंगे.

कही न कही उनका यही काम करने का जो तरीका है वो बता रहा है कि वो पीछे हटने वालो में से नही है. कुछ दिन पहले रिपब्लिक के एक पत्रकार अनुज शर्मा को भी गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन महज तीन से चार दिनों के भीतर उसे छोड़ना पड़ गया.