नोटिस मिलने पर भड़क गये अर्नब गोस्वामी, उद्धव ठाकरे को दी ये चेतावनी

252

इन दिनों में अर्नब गोस्वामी और उद्धव ठाकरे के बीच में जो जंग चल रही है वो किसी से भी छुपी हुई नही है. जिस तरह से अर्नब गोस्वामी ने अकेले ही अपनी पत्रकारिता के जरिये लगातार ठाकरे सरकार को कटघरे में खड़े करने का काम किया है वो सब लोगो के लिए हैरान करने वाला था कि एक अकेला चैनल पूरी सरकार के नाक में दम कर सकता है. खैर अगर हम अभी की बात करे तो हाल ही में उद्धव ठाकरे सरकार की तरफ से अर्नब गोस्वामी को उनकी रिपोर्टिंग के लिए विशेषाधिकार हनन का नोटिस भेजा गया है.

मुझे आजमा रहे हो उद्धव ठाकरे? मेरे इरादे चट्टान से भी ज्यादा मजबूत है
जब अर्नब गोस्वामी को विधानसभा की तरफ से उनकी पत्रकारिता के लिए विशेषाधिकार हनन से जुडा हुआ नोटिस भेजा गया तो उस पर जवाब अर्नब ने गुस्से में आकर के अपने चैनल के माध्यम से ही दिया जिसमे अर्नब ने कहा कि उद्धव ठाकरे जी अगर आप मेरे इरादे आजमा रहे है तो सुन लीजिये मेरे इरादे चट्टान से भी ज्यादा मजबूत है. 60 पेज के नोटिस से वो लोग डरते है जिन्होंने कोई गलत काम किया हो, हम सही है और जनता हमारे साथ है.

आगे अर्नब गोस्वामी कहते है कि पीठ पीछे शिवसैनिक आपके ऊपर ही सवाल उठाते है, हमने कभी किसी की सत्ता की चरण वंदना नही की है. मैं आपको निमंत्रण देता हूँ ताल ठोक कर के कहता हूँ आप कभी बाहर तो आइये स्टूडियो के बाहर आइये, सवालों के जवाब दीजिये. आपका हथियार अगर तानाशाही है तो मेरी जनतचेतना है. जनता मेरे साथ है और सवाल पूछना मेरा अधिकार है.

अर्नब गोस्वामी ने पहले भी कई बार उद्धव ठाकरे को इस तरह से चेताया है और वो बार  बार इस मामले में बात कर चुके है वही शिवसेना तो लगातार उनके टारगेट पर रहती ही है चाहे कितनी ही बार आप देखे या फिर ओबजर्व भी करे.