रूस में चीन से मीटिंग करने के बाद राजनाथ सिंह का प्लेन अचानक मुड़ा तेहरान की तरफ

572

अभी हाल ही में राजनाथ सिंह रूस की राजधानी मोस्को में गये हुए थे. यहाँ पर उनके कई कार्यक्रम थे और साथ ही साथ में राजनाथ सिंह ने चीन के रक्षा मंत्री के साथ में भी मीटिंग की थी. दरअसल जब से भारतीय सेना काफी अधिक अग्रेशन दिखा रही है उसके बाद में चीन ने खुद गुहार लगाई थी कि रक्षा मंत्री स्तर की बैठक हो और उसी के चलते हुए भारत और चीन ने मोस्को में बैठकर के मीटिंग आदि की और पहले तो ऐसा ही लग रहा था कि राजनाथ सिंह अब भारत ही आने वाले है लेकिन तभी एक और दूसरी खबर आयी.

राजनाथ सिंह चले इरान की राजधानी तेहरान, चाबहार पोर्ट को लेकर चल रही दिक्कते दूर करेंगे
अब तक इसे लेकर के कोई स्पष्ट जानकारी नही थी और लोगो को मालूम ही न था कि क्या कुछ होने जा रहा है? मगर पता चला कि जैसे ही राजनाथ सिंह ने अपना रूस का काम खत्म किया उसके बाद में वो इरान की राजधानी तेहरान के लिए निकल गये है और वहाँ पर वो ईरान के रक्षा मंत्री ब्रिगेडियर जनरल आमिर हतामी से मुलाकात करने वाले है.

दरअसल भारत ईरान में चाबहार पोर्ट शुरू करके सीधे अफगानिस्तान और बाकी वहाँ के देशो तक अपनी पहुँच मजबूत करना चाह रहा है मगर पिछले कुछ वक्त में ईरान में चीन का प्रभाव बढ़ा है और भारत कुछ कारणों के चलते हुए चाबहार का काम अधिक तेज गति से नही कर पाया जिसके चलते दोनों के संबंधो में थोड़ी मधुरता कम हुई है. बस इसी के चलते हुए अब राजनाथ सिंह खुद ईरान गये है और वहाँ पर इन मुद्दों को बड़े स्तर पर हल करने की कोशिश करेंगे ताकि चीजे सही स्थिति में आ जाए.

कुल मिलाकर देखे तो चीन के साथ मीटिंग करने के बाद में राजनाथ सिंह उसी के प्लान को काटने के लिए ईरान के लिए निकल गये है और उम्मीद यही की जा रही है कि इससे भारत को काफी अधिक फायदा ही होगा.