चीन और भारत के बीच फिर से भिडंत की खबरे, समुद्र में भी तैनात युद्धपोत

57

भारत और चीन के बीच में कुछ भी सामान्य स्थिति में नही चल रहा है और ये बात कई लोग बहुत ही बेहतर तरीके से जान और समझ पा रहे होंगे जब से गलवान घाटी की घटना हुई थी और कही न कही हर किसी को उस वक्त ये बात महसूस हो गयी थी कि चीजे आगे जाकर के भी कोई सही परिस्थीयो में नही रहने वाली है. मगर जो भी है चीन और भारत के बीच में अब स्थितियां फिर से खराब होते हुए दिख रही है और इसकी पुष्टि खुद पीआरओ ने की है.

भारत ने किया चीन की घुसपैठ रोकने का दावा, समुद्र में भी युद्धपोत तैनात किया
अभी हाल ही में पीआरओ की तरफ से एक बयान जारी किया गया है जिसमे कहा गया है कि चीन के लगभग 500 सैनिको ने भारत के अंदर घुस पैठ करने की कोशिश की थी और ये पैन्गोग त्सो झील के दक्षिणी तट के इलाके पर हुआ था लेकिन हमने उन्हें अच्छे से जवाब दिया और ये लोग कामयाब नही हो पाए, हालांकि अपने बचाव में चीन ने ऐसा कुछ भी होने से इनकार ही कर दिया है लेकिन सच तो सब जानते है कि चीन इस बार विफल हो गया है.

अब बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है. भारत अपने मित्र देशो के साथ मिलकर के समुद्री इलाके में भी चीन पर दबाव बना रहा है और उस पर बंदिश कस रहा है. इसी सोच के साथ में भारत ने अपना एक युद्धपोत साउथ चाइना सी में तैनात कर दिया है. भारतीय नौसेना लगातार वहां पर गश्त कर रही है और चीन के इलाके वहाँ से कोई ज्यादा दूर नही है, इससे भारत ने साफ़ सन्देश दे दिया है कि जब घेरने पर आये तो हम भी हर तरफ से घेरने में काबिल है.

कही न कही ये चीज बताती है कि अब भारत डिफेंसिव रहने की नीति को बदलकर के आगे आ चुका है और जो ज्यादा गलत काम करेगा उसे उसी की भाषा में जवाब देने का कार्य ही होगा.