जिन कांग्रेसी नेताओ ने किया था गांधी परिवार का विरोध उनके बुरे दिन शुरू, हो रहा ऐसा

651

कांग्रेस में इन दिनों नेतृत्व कमजोर होने के कारण बहुत से लोग है जो कही न कही आवाज उठा रहे है और कह रहे है कि अब एक अच्छे अध्यक्ष की जरूरत है. कई नेता जैसे सिब्बल और गुलाम आदि वरिष्ठ नेताओं ने उनके खिलाफ चिट्ठी लिखी थी जिसके बाद में बड़ा ही बवाल हुआ था. राहुल गांधी ने तो इन वरिष्ठ नेताओं को बीजेपी से मिला हुआ तक बता दिया और इससे बुरा तो किसी नेता के लिए और क्या ही होगा? जाहिर तौर पर इससे बुरा और कुछ हो नही सकता है. मगर लगता है अभी और भी काफी कुछ देखना बाकी है.

महाराष्ट्र में मिल रही इन नेताओं को धमकियाँ, कहा माफ़ी मांगो वरना घूमना मुश्किल कर देंगे
महाराष्ट्र से ऐसी चिट्ठी लिखने वालो में कुल तीन नेता शामिल थे पहले थे पृथ्वीराज च्हावण, दुसरे मिलिंद देवड़ा और तीसरे थे मुकुल वासनिक. इन तीनो को अब कांग्रेस के ही एक अन्य नेता जो सोनिया गांधी के वफादार माने जाते है सुनील छत्रपाल केदार की तरफ से धमकी देते हुए कहा गया है कि अब आप तीनो लोग माफ़ी मांग ले और मान ले कि गलत किया था, वरना आपका महाराष्ट्र में खुले में घूमना मुश्किल कर देंगे.

अब जाहिर सी बात है कि अगर महाराष्ट्र के नेताओं के साथ में इतना बदतर व्यवहार हो रहा है तो अन्दर ही अन्दर और राज्य के परिवारों के साथ में भी हो ही रहा होगा और ऐसे में कांग्रेस के वो वरिष्ठ नेता जिन्होंने इतने वर्ष पार्टी को सींचने में लगा दिये उन्हें बस एक बार थोड़ी सी खिलाफत करने का ये सिला मिलेगा ये उन्होंने शायद कभी सपने में भी नही सोचा था.

हालाँकि कांग्रेस तो अभी यही दिखाने की कोशिश कर रही है कि चीजे बिलकुल सही है और कोई भी दिक्कत वाली बात नही है लेकिन असल में ये सब उतना भी ठीक नही है जितना नजर आ रहा है और संभव है कि जल्द ही इस पर मीडिया में आकर बयान बाजी करते हुए आपको यही लोग नजर आ जाए.