कांग्रेस के सभी नेता हुए दो फाड़, सोनिया गांधी के रोकने से भी नही रूक रहा बवाल

319

अभी फिलहाल कांग्रेस पार्टी किस तरह के हालातो से गुजर रही है ये हर किसी को अच्छे तरीके से नजर आ रहा है और अभी इनकी कुछ एक गिने चुने राज्यों में भी सरकार बमुश्किल बची हुई है और ऐसे में जो शीर्ष नेतृत्व था उसकी पकड़ लगातार कमजोर पर कमजोर होती चली जा रही है और इसका नजारा इन दिनों कांग्रेस की बैठको और कुछ एक चिट्ठियों में भी देखने को मिल रही है जो लीक हो रही है क्योंकि अध्यक्ष पद अब किसी नए व्यक्ति को दिया जाना है और हर कोई अपने पसंद के व्यक्ति को ऊपर देखना चाह रहा है.

अध्यक्ष पद को लेकर बढ़ी खींचतान, कोई पक्ष में तो कोई विपक्ष में
इस पूरे घटनाक्रम की शुरुआत हुई एक चिट्ठी से जो लीक हो गयी है और इस चिट्ठी को कांग्रेस के कई सीनियर नेताओं ने सोनिया गांधी को लिखा है और इसका मकसद सिर्फ इतना माना जा रहा है कि राहुल गांधी कही अपने किसी पसंद के व्यक्ति को अध्यक्ष न बनवा दे क्योंकि अगर राहुल के पसंद का व्यक्ति अध्यक्ष बनता है तो फिर सीनियर और वरिष्ठ नेता बैकफुट पर चले जायेंगे क्योंकि राहुल अपनी पसंद के युवा नेताओं को आगे लायेंगे.

वही कई नेताओं का कहना है कि अभी सोनिया गाँधी को अध्यक्ष पद पर बने रहना चाहिए. इसके पीछे कारण ये भी है कि अभी कांग्रेस में वो अपनी पोजीशन को स्थिर रखना चाह रहे है जबकि गांधी परिवार अब बस किसी न किसी तरह से अध्यक्ष पद से पीछा छुडाने में लगा हुआ है. ऐसे में आपस में अपनी अपनी सत्ता और प्रभाव बचाए रखने के लिए सीनियर और युवा नेताओ के बीच में काफी अधिक घर्षण देखने को मिल रहा है जो खुलकर बाहर आते भी देर नही लगेगी.

ऐसे में अशोक गहलोत ने भी टिप्पणी करते हुए कहा है कि अगर इस तरह की चिट्ठी की बात सच है ये तो ये बड़ी ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी अभी के लिए सोनिया गांधी में ही भरोसा जताया है.