हिन्दुस्तान ने करोना के खिलाफ वो कर दिया, जो बड़े बड़े देशो के बस की बात नही थी

452

विश्व के इतिहास में इस वर्ष जो हाल हुए है वो किसी से भी छुपा हुआ नही है. कही न कही अमेरिका से लेकर यूरोप और रूस सबके हाल बड़े ही खस्ता है क्योंकि इस महामारी ने हर किसी के लिए दिक्कत ही दिक्कत खड़ी की है. लोगो के व्यापार ठप्प हुए है, नौकरियां गयी है, जाने तो जा ही रही है और साथ ही साथ कई लोग डिप्रेस भी हो जा रहे है. ये अपने आप में बड़ी समस्या है. जब लोगो को लगता था कि हिन्दुस्तान इस हालत से निकल नही पायेगा तो ऐसे वक्त में भारत अब कमाल कर रहा है.

भारत में एक दिन में रिकॉर्ड तोड़ 9 लाख टेस्ट, अभी तो संख्या और भी बढ़ सकती है
एक समय था जब भारत के पास में पर्याप्त टेस्टिंग किट्स तक उपलब्ध नही थे, विदेशो की तरफ देखना पड़ रहा है लेकिन पिछले कुछ महीनो की डेवलपमेंट आप देखिये कि हिन्दुस्तान अब एक दिन में, सिर्फ एक दिन में 9 लाख टेस्ट कर रहा है. ये अमेरिका जैसे बड़े और शक्तिशाली देशो को छोड़ दिया जाए तो किसी भी और के बस की बात ही नही है लेकिन हिन्दुस्तान ये कर रहा है.

कही न कही ये चीज बताती है कि सरकार और प्रशासन अपने काम में अवनरत लगा हुआ है और काफी ज्यादा अच्छे तरीके से लगा हुआ है. अब रिकवरी रेट भी भारत में 70 प्रतिशत के करीब है जो धीरे धीरे और बढ़ सकता है, वही राजधानी दिल्ली में तो हालात बिलकुल ही काबू में आ गये है और टेस्ट्स की संख्या तो वैसे भी बढ़ ही रही है.

ऐसे में चाहे विश्व स्वास्थ्य संगठन हो या फिर कोई और अंतर्राष्ट्रीय संस्था हो सभी ने भारत के काम को लॉक डाउन से लेकर टेस्टिंग केपिसिटी बढाने तक खूब सराहा है और इसका श्रेय मोदी सरकार और राज्य की सरकारों को मिश्रित रूप से जाना तो बनता ही है क्योंकि ये सबके समन्वय से हो पा रहा है और अभी लोगो में बहुत बुरे हाल नही हो रहे है.