कमलनाथ का बड़ा बयान, कहा कोई और राम मंदिर का क्रेडिट न ले हमने…

609

जब से सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर के पक्ष में फैसला दिया है उसके बाद से ही लगातार कही न कही बहुत सारे लोग है जो इसमें अपना क्रेडिट खोज रहे है और जब से भूमि पूजन का कार्यक्रम हुआ है उसके बाद से तो ये चीज अलग ही लेवल पर चली गयी है. भाजपा तो इस पर अच्छे से काबिज हो ही गयी है क्योंकि उनका तो ये दशको से मुद्दा था कि राम मंदिर बनाएंगे लेकिन अब कांग्रेस भी इसका क्रेडिट लेने से पीछे नही हट रही है. कमलनाथ का हालिया बयान तो ऐसा ही कुछ दिखाता है.

राजीव गांधी जी ने मंदिर का टाला खोला था, कोई और श्रेय ले तो गलत
कमलनाथ पिछले लगभग एक हफ्ते से राम मंदिर के मुद्दे पर एक्टिव है और तरह तरह के बयान दे रहे है. हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बयान में कहा कि आज हमारे देश में बड़ा ही ऐतिहासिक दिन है, हर भारतीय मंदिर निर्माण चाहता है. राजीव गांधी जी ने 1985 में ही मंदिर का दरवाजा खोल दिया था और 1989 में कह भी दिया था कि मंदिर का निर्माण होना चाहिए, राम राज आना चाहिए.

अब अगर कोई इसका क्रेडिट लेने की कोशिश करता है तो ये गलत है. कमलनाथ का इशारा यहाँ पर सीधा सीधा मोदी और बाकी नेताओं पर था जो राम मंदिर के प्रोग्राम में मुख्य चेहरा था और उनके कहने का अर्थ था कि ये सब जो भी हुआ है वो राजीव गांधी के कारण हुआ है. कमलनाथ ने तो हाल ही में अपने घर में राम दरबार का आयोजन भी किया था और पूजा भी करवाई थी जिसे मीडिया में बहुत ही बड़े लेवल पर फैलाया गया.

अब खैर जो कोई कुछ भी कहे लेकिन पिछले कांग्रेस नेता जैसे सिब्बल और मणिशंकर अय्यर आदि के बयान ऐसे थे जिनको देखते हुए कांग्रेस को कोई इस मामले में क्लीन चिट नही दे सकता है जो लोग राम के अस्तित्व पर ही सवाल उठाते आ रहे थे.