पायलट ने पलट दी बाजी? गहलोत गुट के इतने सारे विधायक संपर्क में होने का दावा

420

पिछले एक लम्बे वक्त से राजास्थान की राजनीति अधर में लटकी हुई है. एक ही पार्टी के दो बड़े नेता यानी पायलट और गहलोत एक दुसरे के आमने सामने हो रखे है और जीत किसकी होने वाली है? ये वाकई में कोई भी नही जानता है और शायद जानने में इच्छुक नजर भी नही आता है. खैर अभी तो हम आते है हाल ही में जो हो रहा है उसपर क्योंकि जो हुआ है उस पर किसी की भी नजर अभी जा नही रही है और न ही कोई समझने के प्रयास में है.

पायलट गुट के नेता हेमाराम चौधरी का दावा, गहलोत के 10 से 15 विधायक हमारे संपर्क में
सचिन पायलट के समर्थक नेताओं में एक सबसे बड़ा नाम हेमाराम चौधरी का है जो कि राजस्थान कांग्रेस के ही विधायक है. हेमाराम चौधरी ने अपने साथी नेताओं के साथ मिलकर के एक विडियो जारी किया है जिसमे वो कहते हुए नजर आ रहे है कि हम वर्तमान में राजस्थान में जो नेतृत्व है उससे बिलकुल भी संतुष्ट नही है और ये जो कुछ भी हुआ है उसे बदलना ही होगा.

गहलोत पक्ष ने जो बाडेबंदी की है वो वहां पर सिर्फ विधायको को रोका गया है. अगर वो एक दो दिन के लिए बाडेबंदी खोल दे और फिर दुबारा से करे तो वो भी पायेंगे कि यहाँ पर पहले की तरह उतने विधायक नही है क्योंकि उनमे असंतोष है. हेमाराम चौधरी का कहना है कि गहलोत का समर्थन करने वाले गुट में दस से पंद्रह विधायक ऐसे है जो उनसे संतुष्ट नही है और वो यहाँ पर आने के पक्षधर है. अब हेमाराम चौधरी की बातो में किस हद तक दम है ये तो आने वाले वक्त में साफ़ हो ही जायेगा.

मगर इस दावे के बाद में अशोक गहलोत और कांग्रेस हाई कमान के सर पर थोड़ा सा तनाव तो जरुर आने वाला है क्योंकि ये जो कुछ भी हो रहा है वो कोई सामान्य बात तो किसी भी हाल में नही कही जा सकती है.