अशोक गहलोत ने देर रात बुलायी केबिनेट बैठक, अब इस मांग पर अड़े

282

राजस्थान में जिस तरह की सियासी उठा पटक चल रही है उसको चलते चलते अब एक महीना बीत गया है और कही किसी को भी समझ में नही आ  रहा है कि आखिर ये सब कुछ चल क्या रहा है? एक तरफ पायलट कुछ और ही दावे कर रहे है तो दूसरी तरफ गहलोत भी अपनी धुन में लगे हुए है. अब इन सबके बीच में एक ऐसी खबर आयी है जो कही न कही सब लोगो के लिए आश्चर्य का सबब बन रही है और वो है देर रात तक चली मीटिंग जिसमे गहलोत ने कुछ बाते रखी है.

देर रात तक चली केबिनेट की मीटिंग, फ्लोर टेस्ट पर अड़ गये गहलोत
मुख्यमंत्री आवास पर कल देर रात को नौ बजे के आस पास मीटिंग बुलायी गयी जिसमे केबिनेट के सब लोग मौजूद थे और अध्यक्षता राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कर रहे थे. बस इसी बैठक के दौरान अशोक गहलोत ने ये तय कर लिया है कि वो विधानसभा का सत्र भी बुलायेंगे और जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट करवाके बहुमत भी साबित करेंगे.

इस पूरे मामले को लेकर के अशोक गहलोत की तरफ से राज्यपाल को एक चिट्ठी लिखी गयी है जिसमे सत्र बुलाने की बात भी कही गयी है. अब राज्यपाल ने तो साफ़ कर दिया है कि अगर गहलोत के पास मे बहुमत है तो फिर इसे साबित करने की और सत्र बुलाने की जरूरत क्या है? तो भी गहलोत इस पर अड़ गये है कि मुझे तो करना ही है. वही उनके समर्थक विधायको ने राज्यपाल के आवास के पास में धरना दिया और उन पर दबाव  बनाया गया कि वो सत्र बुलवाए और जो होना है वो जल्द से जल्द हो.

अब गहलोत ऐसा इसलिए कर रहे है क्योंकि इन दिनों राजस्थान में उनका पलड़ा काफी भारी हो रखा है और अगर फ्लोर टेस्ट में वो बहुमत के साथ आगे निकल जाते है तो फिर सचिन पायलट की राजनीति अपने आप में बैकफुट में चली जाने वाली है और संभवतः इसी कारण से फ्लोर टेस्ट की जल्दी भी की जा  रही है.